गढ़चिरौली. गृह मंत्री अमित शाह (Amit shah) ने शुक्रवार को आदिवासी कल्याण के मुद्दे पर कांग्रेस (Congress) पर निशाना साधा और पार्टी नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi) से पूछा कि उनकी चार पीढ़ियों ने 70 साल के शासन के दौरान जनजातीय समुदाय के लिए क्या किया. उन्होंने कहा कि क्षेत्र को अगले पांच साल में नक्सलवाद (Naxalism) से मुक्त कर दिया जाएगा.

पूर्वी महाराष्ट्र (Maharashtra) के माओवाद प्रभावित गढ़चिरौली के अहेरी में चुनावी रैली को संबोधित करते हुए अमित शाह ने कहा कि कांग्रेस नीत सरकारों ने वोट-बैंक की राजनीति के लिए संविधान के अनुच्छेद 370 को समाप्त नहीं किया. अंतत: मोदी सरकार ने इस विवादास्पद प्रावधान को समाप्त किया, जिसके तहत जम्मू कश्मीर को विशेष दर्जा मिला हुआ था.

अमित शाह ने आदिवासी बहुल जिले में आयोजित रैली में राहुल गांधी के लिए सवाल किया, ‘आपकी चार पीढ़ियों ने 70 साल तक देश पर शासन किया, आपने आदिवासियों के लिए क्या किया? आपने मोदी जी को केवल पांच साल दिए और हमने इस दौरान समुदाय के लिए बहुत काम किया.’

बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने राहुल गांधी और राकांपा अध्यक्ष शरद पवार पर निशाना साधते हुए उनसे जिले में तथा महाराष्ट्र में किए गए उनके कामकाज का हिसाब देने को कहा जहां 1999 से 2014 तक 15 साल तक कांग्रेस-राकांपा सरकार रही. शाह ने कहा कि कांग्रेस ने ओबीसी आयोग को संवैधानिक वैधता प्रदान नहीं की और इस काम को भी मोदी सरकार ने पूरा किया.शरद पवार को दी चुनौती
बीजेपी नीत केंद्र और राज्य सरकारों के काम गिनाते हुए शाह ने कहा कि अकेले गढ़चिरौली जिले में 1.30 लाख शौचालय बनाए गए हैं, 48 हजार गैस सिलेंडर दिए गए हैं, 48 हजार आदिवासी परिवारों को बिजली मुहैया कराई गई और 8000 गरीब आदिवासियों को घर दिए गए. अमित शाह ने 78 वर्षीय पवार को इस मुद्दे पर भारतीय जनता युवा मोर्चा की अध्यक्ष से बहस करने की चुनौती दी कि किसकी सरकार ने क्या काम किया है.

शाह ने कहा, ‘हमारे पांच साल का काम आपके 50 साल के शासन से बेहतर साबित होगा. हम बहस के लिए तैयार हैं.’ उन्होंने कहा कि केंद्र में कांग्रेस-राकांपा की सरकारों ने महाराष्ट्र को 13वें वित्त आयोग के तहत 1.15 लाख करोड़ रुपये दिए. दूसरी तरफ मोदी सरकार ने 14वें वित्त आयोग के तहत राज्य को 4.38 लाख करोड़ रुपये दिए.

‘माओवादी विकास के विरोधी हैं’

गढ़चिरौली जिले के नक्सल प्रभावित होने के संदर्भ में शाह ने कहा कि पहले प्रचार किया जाता था कि नक्सलवाद की मुख्य वजह विकास नहीं होना है. हालांकि हकीकत में माओवादी विकास के विरोधी हैं. शाह ने कहा कि सरकार नक्सल प्रभावित इलाकों में बिजली, अच्छी सड़कें, रेल सेवाएं और अन्य सुविधाएं पहुंचाना चाहती है, लेकिन नक्सली यह नहीं होने देना चाहते.

‘PM मोदी ने नक्सलवाद पर लगाम कसी’
अमित शाह ने कहा, ‘किसी को चिंता करने की जरूरत नहीं है. पीएम मोदी ने पिछले पांच साल में नक्सलवाद पर लगाम कसी है. हम इस पूरे क्षेत्र को नक्सलवाद से मुक्त कराएंगे और ऐसा माहौल बनाएंगे कि यहां के नौजवान बाकी दुनिया के युवाओं से स्पर्धा कर सकेंगे.’ भाजपा अध्यक्ष ने महाराष्ट्र और कश्मीर की बात एक साथ करने का विरोध किए जाने पर कांग्रेस-राकांपा निशाना साधा और कहा, ‘राहुल बाबा इतिहास पढ़ो. यह शिवाजी महाराज और सावरकर की सरकार है. इस भूमि के सपूत कभी देश की हिफाजत से पीछे नहीं हटे.’

यह भी पढ़ें: Exclusive: राम मंदिर से लेकर विधानसभा चुनावों तक, हर सवाल का गृह मंत्री अमित शाह ने दिया जवाब, यहां पढ़िए पूरा इंटरव्यू

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here