[ad_1]

अमेरिका का डॉ. जोसफ 260 दिनों से कोरोना मरीजों का इलाज कर रहा है. (प्रतीकात्‍म तस्‍वीर-AP)

अमेरिका का डॉ. जोसफ 260 दिनों से कोरोना मरीजों का इलाज कर रहा है. (प्रतीकात्‍म तस्‍वीर-AP)

US Doctor Josheph in Corona Time: अमेरिका के डॉ. जोसेफ का अस्पताल में बिना कोई छुट्टी लिए काम करते हुए 260वां दिन (Two Hundred Sixty Days) था. डॉ. जोसेफ ने बताया कि अस्पताल से जब वे घर पहुंचते हैं तब भी उनका अधिकतर समय मरीजों के आये फोन पर उनसे बातचीत में ही निकल जाता है.

  • News18Hindi

  • Last Updated:
    December 13, 2020, 6:30 PM IST

वाशिंगटन. नॉर्थ ह्यूस्टन (North Huoston) में यूनाइटेड मेमोरियल कम आय वाले लोगों का इलाज करने वाला एक छोटा सा अस्पताल है जहाँ के चीफ ऑफ़ स्टाफ डॉ. जोसेफ वरोन इस समय सुर्ख़ियों में हैं. डॉ. जोसेफ वरोन (Dr. Joseph Varon) की थैंक्सगिविंग पर एक बुजुर्ग कोविड रोगी (Covid-19) को गले लगाने की एक तस्वीर वायरल हुई जिसके बाद न्यूज़ एजेंसी एएफपी ने उनके बारे में जानकारी एकत्र की और उसके बाद उनसे मिलने पहुंची. एजेंसी जब उनसे मिलने अस्पाताल पहुंचीं उसे यह जानकर सुखद आश्चर्य हुआ कि यह डॉ. जोसेफ का अस्पताल में बिना कोई छुट्टी लिए काम करते हुए 260वां दिन था. डॉ. जोसेफ ने बताया कि अस्पताल से जब वे घर पहुंचते हैं तब भी उनका अधिकतर समय मरीजों के आये फोन पर उनसे बातचीत में ही निकल जाता है.

खानेपीने का भी नहीं मिलता समय: डॉक्टर

जोसेफ का कहना है कि उन्हें खाने पीने का भी समय नहीं मिल पाता इसलिए जब भी कोई कुछ खाने को लाता है तो वे खा लेते हैं क्योंकि आगे भोजन का समय मिले या न मिले. वे हँसते हुए बताते हैं कि इसी कारण उनका वजन 15 किलो बढ़ गया है.

चरम पर पहुंची डॉक्टर की निराशाबढ़ते मामलों के कारण थक चुके डॉक्टर जोसेफ ने जुलाई में मीडिया से शिकयत की कि वे और उनके कर्मचारी बहुत थक चुके हैं. अपने स्टाफ की नर्सों का दर्द बयान करते हुए डॉक्टर ने कहा कि वे इतना थक चुकी हैं कि अब वे किसी भी समय रोने लगेंगी. उन्होंने बताया कि कोरोना संक्रमण के जितनी अधिक संख्या में मामले इस अस्पताल में आ रहे हैं उन्हें स्वस्थ करने की लड़ाई में यहाँ का स्टाफ बहुत ज्यादा थक चुका है.

ये भी पढ़ें: डोनाल्ड ट्रंप के समर्थन में रैली, वाशिंगटन में 10 हजार से ज्यादा लोग हुए शामिल

चीन के कोविड-19 वैक्सीन का पेरू में चल रहा था ट्रायल, प्रतिकूल रिजल्ट के चलते रोका

कोविड वार्ड में सभी बेड भरे हुए हैं. अस्पताल का स्टाफ मरीजों की देखभाल में लगा हुआ है और डॉक्टर जोसेफ भी रोजाना कोविड वार्ड का राउंड लेते हैं. चूँकि वार्ड में मानवीय संपर्क की कमी है और अकेलापन पसरा हुआ है इसलिए जोसेफ सहित कई डॉक्टर अपनई अन्यों की तुलना में थोड़ी बड़ी तस्वीर लगाकर रखते हैं जिससे उनके मरीज उन्हें पहचान सकें.



[ad_2]

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here