भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना. (रॉयटर्स फाइल फोटो)

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना. (रॉयटर्स फाइल फोटो)

India-Bangladesh Relations: विदेश सचिव हर्षवर्धन श्रृंगला की मानें तो पीएम मोदी की इस दो दिवसीय बांग्लादेश यात्रा के दौरान विभिन्न समझौतों पर हस्ताक्षर होंगे. साथ ही बांग्‍लादेश से विभिन्न क्षेत्रों में सहयोग बढ़ाने के लिए नई घोषणाएं भी की जा सकती हैं.

ढाका. बांग्लादेश ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (PM Narendra Modi) की दो दिवसीय यात्रा के दौरान नयी दिल्ली और ढाका के बीच कम से कम पांच सहमति पत्रों (एमओयू) पर हस्ताक्षर होने की संभावना है. पीएम मोदी बांग्लादेश की स्वतंत्रता के स्वर्ण जयंती समारोह और इसके संस्थापक शेख मुजीबुर रहमान के जन्मशती समारोह में शामिल होने शुक्रवार को ढाका पहुंचेंगे.

प्रधानमंत्री मोदी 26 से 27 मार्च तक की अपनी दो दिवसीय यात्रा के दौरान बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना के साथ प्रतिनिधिमंडल स्तर की वार्ता भी करेंगे. कोविड-19 महामारी के बाद से मोदी की यह पहली विदेश यात्रा है. बांग्लादेश के विदेश मंत्री डॉ. ए के अब्दुल मोमेन ने कहा कि एमओयू की संख्या कम या ज्यादा हो सकती है, लेकिन कम से कम पांच एमओयू पर हस्ताक्षर होने की संभावना है.

विभिन्न क्षेत्रों में सहयोग बढ़ाने की घोषणा
विदेश सचिव हर्षवर्धन श्रृंगला की मानें तो पीएम मोदी की इस दो दिवसीय बांग्लादेश यात्रा के दौरान विभिन्न समझौतों पर हस्ताक्षर होंगे. साथ ही बांग्‍लादेश से विभिन्न क्षेत्रों में सहयोग बढ़ाने के लिए नई घोषणाएं भी की जा सकती हैं. श्रृंगला ने कहा, ”यह यात्रा बेहद खास तथा महत्वपूर्ण है. इस दौरान दोनों देशों के बीच विशेष संबंधों पर जोर रहेगा.”विदेश सचिव ने कहा, ”प्रधानमंत्री की यात्रा के दौरान दोनों देशों के बीच विभिन्न समझौतों पर हस्ताक्षर किए जाएंगे. इनमें दोनों देशों के बीच सहयोग से संबंधित कई समझौते शामिल हैं.” सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक शेख हसीना शुक्रवार सुबह ढाका के हजरत शाह जलाल अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे पर पीएम मोदी की अगवानी करेंगी. उन्होंने कहा कि दो दिवसीय दौरे के दौरान मोदी शनिवार को दक्षिण-पश्चिम स्थित सतखीरा और गोपालगंज के जेशोरेशवरी एवं ओरकांडी मंदिरों में दर्शन के लिए जाएंगे.

ये भी पढ़ेंः- पैंगोंग में डिसइंगेजमेंट के बाद खतरा कम हुआ है…खत्म नहीं: आर्मी चीफ नरवणे

ईश्वरीपुर गांव स्थित प्रचीन जेशोरेश्वरी काली मंदिर के पुजारी दिलीप मुखर्जी ने कहा, इस ऐतिहासिक मंदिर में मोदी के स्वागत के लिए हमने सभी तैयारियां की हैं. हम आशा करते हैं कि वह भारत और बांग्लादेश के लाखों लोगों के लिए प्रार्थना करेंगे.





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here