सिविल लाइन स्थित गोपालदास पुल के ढलान पर जिस्मफरोशी की आ रही बू

जांच के दायरे में जिला आबकारी अधिकारी और उनके शहरी इंस्पेक्टर


सुल्तानपुर। जिला मुख्यालय पर साहबों की नाक के नीचे सरकारी शराब की दुकान के अंदर युवती को दारू पिलाकर जाम छलकाया जा रहा है। शराब पीने के बाद कई युवक उस लड़की को अपने साथ ले जाने के लिए भिड़ने लगे।वह भी दिनदहाड़े । वाकया शनिवार शाम करीब पांच बजे का है। पता चला है कि दो तीन-युवक एक युवती को लेकर देशी ठेके पर पहुंचे थे। बिना रोकटोक युवती को लेकर युवक अंदर घुस गए। फिर क्या था,ठेके पर बोतल पर बोतल आती गई। युवकों ने लड़की को पैक बनाकर दिया तो कभी लड़की ने पैक बनाया।इस बाबत जिला आबकारी अधिकारी हितेंद्र शेखर से बात की तो उन्होंने पहले तो ऐसी किसी घटना से इनकार किया फिर साक्ष्य मांगा। वीडियो उन्हें भेजा गया तो उनके होश उड़ गए।उन्होंने जांच पड़ताल शुरू की। ठेकेदार केके पक्ष में कुतर्क करते हुए वह चिकित्सक बन गए ।कहा कि युवती मानसिक रूप से कमजोर है। वह खुद ठेके पर पहुंच गई थी। फिलहाल पूरे प्रकरण की जांच की जा रही है। सेल्समैन के खिलाफ़ भी विधिक कारवाई होगी।इसके पूर्व भी आबकारी अधिकारी को कोतवाली के पीछे बियर की दुकान, गोरबारिक के अंग्रेजी ठेके, लखनऊ नाका स्थित धर्म शाला में अनियमितता की बतलाया जा चुका है।इसके अलावा भी शहरी इंस्पेक्टर व कुछ कर्मियों की मिलीभगत के कारण जिला बदनाम होने की राह पर है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here