लखनऊ. उत्तर प्रदेश में 2022 के विधानसभा चुनाव (Up Assembly Election 2022) को देखते हुए सूबे की सत्ताधारी बीजेपी के साथ ही सपा, बसपा और कांग्रेस जैसी विपक्षी दलों ने भी अपनी चुनावी तैयारियां तेज कर दी हैं. जिसके तहत इन दिनों एक ओर जहां सभी राजनीतिक दलों में सूबे के सियासी और जातिगत समीकरणों को देखते हुए एक दूसरे दलों के नेताओं और छोटे दलों से बात-मुलाकात के साथ उन्हें अपनी पार्टी में शामिल करने का सिलसिला शुरू हो गया है. वहीं दूसरी ओर कांग्रेस जैसे विपक्षी दल अब जनहित से जुड़े हर एक मुद्दे को लेकर सत्ताधारी भाजपा सरकार पर जमकर निशाना भी साधते नजर आ रहे हैं.

कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव और उत्तर प्रदेश की प्रभारी प्रियंका गांधी ने सोमवार को एक के बाद एक फेसबुक पोस्ट कर भाजपा सरकार पर जमकर निशाना साधा. इस दौरान प्रियंका गांधी ने फिर डीजल-पेट्रोल की बढ़ती कीमतों को लेकर फेसबुक पोस्ट कर इससे सरकार द्वारा 4 लाख करोड़ रुपये वसूलकर सिर्फ लोन बांटने की बात कही. वहीं दूसरी ओर 1 जुलाई से SBI बैंक से पैसा निकालने पर भी चार्ज बढ़ जाने से जुड़ी खबर पर सरकार को आड़े हाथ लिया.

कौन सी चीज हुई सस्ती

इस दौरान प्रियंका गांधी ने सोमवार को सबसे पहले आगामी 1 जुलाई से SBI बैंक से पैसा निकालने पर भी चार्ज बढ़ जाने से जुड़ी खबर को लेकर ही फेसबुक पर एक पोस्ट किया. जिसमें प्रियंका गांधी ने सरकार पर निशाना साधते हुए लिखा है कि ‘क्या कोई भी ऐसी चीज है जो इस सरकार में सस्ती हुई हो? बस जुमले, झूठे वादे और खुद की कही बातों से यूटर्न सरकार मुफ्त में बांट रही है.’

जिसके बाद प्रियंका नें कोरोना से प्रभावित आर्थिक रूप से कमजोर लोगो के समर्थन मे एक दूसरा पोस्ट किया. जिसमें प्रियंका गांधी ने लिखा कि ‘कोरोना से प्रभावित आर्थिक रूप से कमजोर लोगों, छोटे उद्योगों और कामगारों को नकद आर्थिक सहायता और रोजगार गारंटी की जरूरत थी. लेकिन केंद्र सरकार ने एक बार फिर “लोन गारंटी” का झुनझुना थमा दिया. जनता से वसूली की बात करें तो पेट्रोल-डीजल पर ही टैक्स वसूली से सरकार लगभग 4 लाख करोड़ वसूल चुकी है, लेकिन जनता को देने के नाम पर लोन देती है.’



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here