गायक एस पी बालासुब्रह्मण्यम को भारत सरकार ने पद्म विभूषण सम्मान से सम्मानित करने का फैसला किया है.

गायक एस पी बालासुब्रह्मण्यम को भारत सरकार ने पद्म विभूषण सम्मान से सम्मानित करने का फैसला किया है.

सुरमयी आवाज से गानों को जीवंत बनाने वाले एस पी बालासुब्रह्मण्यम (SP Balasubrahmanyam) को भारत सरकार ने पद्म विभूषण अवार्ड देने का फैसला किया है. उन्हें यह पुरस्कार मरणोपरांत दिया जाएगा. एस. पी. बालासुब्रह्मण्यम का 25 सितंबर 2020 को निधन हो गया था.

  • News18Hindi

  • Last Updated:
    January 26, 2021, 12:40 AM IST

मुंबई. सुरमयी आवाज से गानों को जीवंत बनाने वाले एस पी बालासुब्रह्मण्यम (SP Balasubrahmanyam) को भारत सरकार ने पद्म विभूषण अवार्ड देने का फैसला किया है. गणतंत्र दिवस के अवसर पर पद्म पुरस्कारों का ऐलान किया गया है. इस बार 7 हस्तियों को पद्म विभूषण, 10 को पद्म भूषण और 102 को पद्मश्री अवार्ड दिया जाएगा. उन्हें यह अवार्ड मरणोपरांत दिया जाएगा. एस पी बालासुब्रह्मण्यम का 25 सितंबर 2020 को निधन हो गया था. उन्होंने टॉलीवुड से लेकर हिंदी फिल्मों के गानों को भी अपनी सुरमयी आवाज दी. उन्होंने सलमान खान की फिल्म के कई गाने गाए थे, जो हिट हुए थे. ये गाने आज भी गाए जाते हैं.

सलमान खान और भाग्यश्री स्टारर सुपरहिट फिल्म ‘मैंने प्यार किया’ के लिए सभी गाने एसपी बालासुब्रह्मण्यम ने गाए, जो सुपर हिट साबित हुए. उसके बाद उन्होंने सलमान के करियर के शुरुआती दिनों के सभी गाने गाए और उन्हें सालों तक सलमान खान की आवाज के तौर पर जाना गया.

इसके अलावा कई ऐसे सुपरहिट गाने हैं, जिनको उन्होंने अपनी सुरमयी आवाज दी. उन्होंने तेलुगू भाषा में अपना पहला गाना गाया था. इसके बाद उन्होंने कन्नड़ और फिर हिंदी फिल्मों के गानों को अपनी आवाज दी. बॉलीवुड में एस.पी. बालासुब्रमण्यम ने ‘मैंने प्यार किया’, ‘हम आपके हैं कौन’, ‘अंधा कानून’, ‘साजन’, ‘100 डेज’, ‘चेन्नई एक्सप्रेस’ और ‘अंगार’ जैसी फिल्मों के गानों को अपनी आवाज दी.

बालासुब्रमण्यम का जन्म नेल्लूर के तेलुगू परिवार में हुआ था और उनके पिता एस.पी. सम्बामूर्ति एक हरिकथा आर्टिस्ट थे. वे प्लेबैक सिंगर के अलावा म्यूजिक डायरेक्टर, एक्टर, डबिंग आर्टिस्ट और फिल्म प्रोड्यूसर भी रहे थे.एस पी बालासुब्रह्मण्यम का पूरा नाम श्रीपति पंडितराध्युला बालासुब्रमण्यम है. बालू के उपनाम से मशहूर एसपी 16 भारतीय भाषाओं में 40 हजार से ज्यादा गाने रिकॉर्ड किए थे. साल 2001 में उन्हें पद्मश्री और साल 2011 में उन्हें पद्म भूषण अवॉर्ड से नवाजा गया था. उनका नाम गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स में भी दर्ज है.








Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here