[ad_1]

असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी 2022 में यूपी विधानसभा का चुनाव लड़ेगी.

असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी 2022 में यूपी विधानसभा का चुनाव लड़ेगी.

एआईएमआईएम के अध्यक्ष एवं लोकसभा सदस्य असदुद्दीन ओवैसी (Asaduddin Owaisi) ने 2022 के यूपी विधानसभा चुनाव में ‘भागीदारी संकल्प मोर्चा’के साथ उतरने का ऐलान किया है. इस मोर्चे में ओम प्रकाश राजभर (Om Prakash Rajbhar) और बाबू सिंह कुशवाहा (Babu Singh Kushwaha) जैसे दमदार नेता शामिल हैं.

लखनऊ. बिहार विधानसभा चुनाव में पार्टी के प्रदर्शन से उत्साहित एआईएमआईएम के अध्यक्ष एवं लोकसभा सदस्य असदुद्दीन ओवैसी (Asaduddin Owaisi) ने बुधवार को कहा कि वह सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर (Om Prakash Rajbhar) द्वारा गठित ‘भागीदारी संकल्प मोर्चा’ के साथ रहेंगे. साफ है कि ओवैसी बिहार के बाद उत्‍तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव लड़ने की तैयारी में हैं, जो कि 2022 में होंगे. आपको बता दें कि भागीदारी संकल्प मोर्चा में राजभर की एसबीएसपी के अलावा यूपी के पूर्व मंत्री बाबू सिंह कुशवाहा (Babu Singh Kushwaha) की जन अधिकार पार्टी, बाबू राम पाल की राष्ट्रीय उदय पार्टी, अनिल सिंह चौहान की जनता क्रांति पार्टी और प्रेमचन्द प्रजापति की राष्ट्रीय उपेक्षित समाज पार्टी शामिल हैं. इसके साथ ओवैसी ने कहा कि हम अब राजभर के मोर्चा का हिस्सा हैं. आज मैं उनसे मिला हूं, हम उनके साथ जाएंगे. ‘भागीदारी संकल्प मोर्चा’ का गठन पहले ही किया गया था, हम उनके साथ रहेंगे. वहीं, उन्होंने कहा कि राजभर की पार्टी ने हाल ही में हुए बिहार विधानसभा चुनाव में एआईएमआईएम उम्मीदवारों की जीत में भूमिका निभाई थी.

ओवैसी ने बसपा और चुनाव पर कही ये बात
ओवैसी से जब पूछा गया कि क्या बसपा प्रमुख मायावती भी ‘भागीदारी संकल्प मोर्चा’ का हिस्सा होंगी. इस पर उन्होंने कहा कि मुझे नहीं पता कि भविष्य में क्या होगा, लेकिन मैं इतना जानता हूं कि मैं भागीदारी संकल्प मोर्चा का हिस्सा हूं और हम इसे आगे ले जाएंगे और देखेंगे कि भविष्य में क्या होता है. इसके अलावा उन्होंने कहा कि हमने पांच साल पहले उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव लड़ा था. हालांकि हमें कोई सफलता नहीं मिली थी. फिर हमने नगर निगम चुनाव लड़ा था, हम यहां लगातार काम कर रहे हैं.

ममता बनर्जी पर साधा निशानाउनसे पूछा गया था कि तृणमूल कांग्रेस की प्रमुख और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी का आरोप है कि वह पैसे लेकर मुस्लिम वोटों का बंटवारा करते है. इस पर ओवैसी ने कहा, ‘जब अटल बिहारी वाजपेयी जी प्रधानमंत्री थे तो ममता राजग का हिस्सा रही. गुजरात में इतना बड़ा फसाद हुआ. अब ममता बनर्जी यह कह रही हैं तो अब तक उनका सामना ‘मीर जाफर’ औैर ‘मीर सादिक’ जैसे लोगों से पड़ा है. उनका एक सच्चे मुसलमान से सामना नहीं हुआ है, वह हो जायेगा.’

Asaduddin Owaisi, Om Prakash Rajbhar,असदुद्दीन ओवैसी, ओम प्रकाश राजभर,

ओम प्रकाश राजभर के ‘भागीदारी संकल्प मोर्चा’में बाबू सिंह कुशवाहा और ओवैसी समेत कई दिग्‍गज शामिल हैं.

हम 2022 का विधानसभा चुनाव एक साथ मिलकर लड़ेंगे: राजभर
ओवैसी से मुलाकात के बाद सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के प्रमुख ओम प्रकाश राजभर ने कहा, ‘हमने एक साल पहले भागीदारी संकल्प मोर्चा का गठन किया था और हम 2022 का विधानसभा चुनाव एक साथ मिलकर लड़ेंगे. कल तक लोग कहते थे कि ओपी राजभर अकेला है और वह क्या कर लेगा? अब जब ओवैसी आये है तो लोगों को परेशानी क्यों हो रही है.’ साथ ही कहा कि कहा, ‘हमने मोर्चा चुनाव जीतने के लिए बनाया है और हम शिक्षा, स्वास्थ्य और रोजगार के मुद्दे पर चुनाव लड़ेंगे.’

सपा भाजपा की बी टीम
राजभर से पूछा गया कि एआईएमआईएम को भाजपा की ‘बी टीम’ कहा जाता है तो उन्होंने कहा, ‘अगर आप उत्तर प्रदेश में देखेंगे तो ‘बी टीम’ समाजवादी पार्टी (सपा) है, ‘सी टीम’ बहुजन समाज पार्टी (बसपा) है और ‘डी टीम’ कांग्रेस पार्टी है. हम 2022 में उत्तर प्रदेश में सरकार बनायेंगे. सच्चाई यह है कि सपा, बसपा और कांग्रेस किसी में कुव्वत नहीं है कि वह चुनाव में अकेले जा सकें. आज भाजपा एक ताकतवर पार्टी है और बिना किसी मोर्चे के कोई अन्य दल आगे नहीं बढ़ सकता है. ‘



[ad_2]

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here