1.9 C
New York
Thursday, February 2, 2023

Buy now

spot_img

कोतवाल की हत्या आरोपियों से इतनी बड़ी सेटिंग…….!

अमेठी कोतवाल की हत्यारोपियों से इतनी बड़ी सेटिंग कि कोर्ट के आदेश के डेढ़ माह बाद भी नहीं दर्ज हो सका हत्या का मुकदमा,व्यक्तिगत रूप से कोर्ट ने किया तलब

मृतका की मां की अर्जी पर कोर्ट ने बीते 23 जून को आरोपी पति समेत अन्य ससुराली जनों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने का दिया था आदेश,जहर देकर मौत के घाट उतारने का है आरोप

मृतका की बेटी ने अपने मन पसंद के लड़के से कर ली थी शादी,उसी के बेटी पैदा होने पर मां ने फोन पर कर दी थी खुशी जाहिर, बस इसी बात पर मां को आरोपियों ने उतार दिया था मौत के घाट

अमेठी पुलिस ने तहरीर मिलने के बाद भी आरोपियों को संरक्षण देकर नहीं दर्ज किया था मुकदमा,नतीजतन मृतका की मां ने ली थी कोर्ट की शरण

रिपोर्ट- अंकुश यादव

सुलतानपुर/अमेठी। बेटी के जरिये मनपसंद शादी कर लेने की जिम्मेदार मानी जा रही मां को जहर देकर मौत के घाट उतारने के मामले में अमेठी कोतवाली पुलिस ने कोर्ट के आदेश के डेढ़ माह बाद भी मुकदमा नहीं दर्ज किया। मामले में अभियोगिनी की अर्जी पर संज्ञान लेते हुए प्रभारी सीजेएम सपना त्रिपाठी ने कोतवाल उमाकान्त शुक्ला को वर्तमान आख्या के साथ व्यक्तिगत रूप से 10 अगस्त के लिए तलब किया है।
मामला अमेठी कोतवाली क्षेत्र के दूबेपुर गांव से जुड़ा है। जहां के रहने वाले मोहम्मद बकरीदी के साथ इसी कोतवाली क्षेत्र की जहांगीर का पुरवा मौजा टिकरी गांव की रहने वाली अभियोगिनी हमीदा बानो ने अपनी बेटी गुड्डा की शादी कराई थी। आरोप के मुताबिक उसकी पुत्री गुड्डा की बेटी ने अपने मनपसंद के लड़के के साथ शादी कर ली थी, इसी बात से गुड्डा का पति बकरीदी, सास,ननद एवं देवर काफी नाराज चल रहे थे और लड़की के जरिए मनपसंद शादी करने का जिम्मेदार उसकी मां गुड्डा को ही मान रहे थे। आरोप के मुताबिक सभी आरोपी बेटी के जरिये मनपसंद शादी कर लेने के बाद से ही उसकी माँ गुड्डा को कई तरीके से प्रताड़ित कर रहे थे और उसे इस बात की कीमत चुकाने की लगातार धमकी भी दे रहे थे। अभियोगिनी के मुताबिक बीते 20 फरवरी को गुड्डा की मनपसंद शादी करने वाली बेटी के पुत्री पैदा हुई,जिसकी जानकारी मिलने पर मां होने के नाते गुड्डा ने बेटी के पास फोन करके खुशी जाहिर की,बस इसी बात की जानकारी मिलने पर आरोपी पति बकरीदी,सास-जन्नतुल निशा, ननद-रुखसाना बानो व देवर लल्लू ने गुड्डा को मारा पीटा और उसे जान से मार डालने की नियत से जहर पिला दिया। हालत बिगड़ने पर गुड्डा ने अपनी मां हमीदा बानो के पास फोन करके घटना की जानकारी दी। हमीदा बानो जब पहुंची तो उसकी बेटी गुड्डा खूब तड़प रही थी लेकिन कोई उसे अस्पताल तक ले जाने वाला नहीं था नतीजतन तड़प- तड़प कर उसकी बेटी गुड्डा ने दम तोड़ दिया। यही नहीं आरोपियों ने साक्ष्य मिटा देने की मंशा से किसी को भी घटना की सूचना नहीं दी और बगैर पोस्टमार्टम कराए शव को भी दफना दिया। अभियोगिनी के मुताबिक उसकी बेटी गुड्डा ने मरने के पहले सभी आरोपियों के जरिए मारपीट कर जबरन जहर पिलाकर मारने की साजिश करने की बात बताई थी। इस मामले में अमेठी पुलिस ने हमीदा बानो की सूचना के बाद भी मुकदमा नहीं दर्ज किया और न शव का पोस्टमार्टम कराया,नतीजतन पीड़िता ने कोर्ट की शरण ली। मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट की अदालत में हमीदा बानो की तरफ से अधिवक्ता विनोद कुमार मिश्र ने पैरवी की। जिनके तर्कों को सुनने के पश्चात बीते 23 जून को मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट की अदालत ने आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जांच के लिए कोतवाल अमेठी को आदेशित किया था। कोर्ट का आदेश भी कई दिन पहले थाने पर भेजा जा चुका है, लेकिन आदेश की प्रति पहुँचने के बाद भी अभी तक आरोपियों के खिलाफ मुकदमा नहीं दर्ज हो सका है। इसकी वजह अमेठी कोतवाल उमाकांत शुक्ला की आरोपियों से गहरी सेटिंग-गेटिंग बताई जा रही है और जितने दिन टाल पाओ उतना टालने और फिर बाद में तफ़्तीशी खेल भी करने की शर्त तय होने की भी वजह मानी जा रही है। विभाग के उच्चाधिकारी भी अपने मनमाने कोतवाल की इस लापरवाही से अंजान बने हुए है। वैसे भी अमेठी कोतवाल गुंगवांछ गांव में हुए बहुचर्चित चौहरे हत्याकांड में जेल गये आरोपी को तीन माह बाद क्लीनचिट देकर चर्चा में बने हुए है। पुलिस का यह लापरवाही पूर्ण रवैया देखकर अभियोगिनी के अधिवक्ता विनोद कुमार मिश्र ने कोर्ट में पूर्व में पारित आदेश का अनुपालन कराने को लेकर अर्जी दी है,जिस पर संज्ञान लेते हुए प्रभारी सीजेएम सपना त्रिपाठी ने कोतवाल अमेठी को वर्तमान आख्या के साथ व्यक्तिगत रूप से 10 अगस्त के लिए तलब किया है।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

0FansLike
3,695FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img

Latest Articles