[ad_1]

खेल न होने के कारण दीप घर लौट आए हैं और अब सब्‍जी बेच रहे हैं (सांकेतिक फोटो )

खेल न होने के कारण दीप घर लौट आए हैं और अब सब्‍जी बेच रहे हैं (सांकेतिक फोटो )

कोरोना वायरस (Coronaviurs) के कारण खेल न होने से इस खिलाड़ी को हजार रुपये का भत्‍ता मिलना भी बंद हो गया. इस भत्‍ते से भी वो अपने परिवार की मदद करता था

नई दिल्‍ली. कोरोना वायरस (Coronavirus) के कारण देश में खेल गतिविधियां पूरी तरह से ठप्‍प हैं और इस कारण कई खिलाड़ी आर्थिक तंगी से जूझ रहे हैं. देश के 131 साल पुराने फुटबॉल क्‍लब मोहन बागान (Mohun Bagan) जूनियर एकेडमी के एक उभरते फुटबॉलर पर कोरोना की मार ऐसी पड़ी कि उसे सड़क पर सब्‍जी बेचने को मजबूर होना पड़ा.

मोहन बागान फुटबॉल क्‍लब के जूनियर फुटबॉलर दीप बाग को अपने पैशन को एक तरफ रखकर सड़क पर उतरना पड़ा. पश्चिम बंगाल के इस 20 साल के खिलाड़ी का परिवार बंगाल में लॉकडाउन की वजह से आर्थिक तंगी से जूझ रहा है और यह खिलाड़ी अपने परिवार का पेट भरने के लिए संघर्ष कर रहा है. दीप दुर्गापुरा मोहन बागान अंडर 19 एकेडमी में ट्रेनिंग करते थे और पिछले सीजन तक स्टॉपर के रूप में खेले. उन्‍हें एकेडमी में रहने के दौरान एक हजार रुपये का भत्‍ता मिलता था. इस भत्‍ते और उनके 68 साल के पिता की कमाई से परिवार चलता था.

खेल न होने के कारण घर लौटना पड़ा

आगे पढ़ें



[ad_2]

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here