[ad_1]

(AP Photo/Eranga Jayawardena)

(AP Photo/Eranga Jayawardena)

चीन के शीर्ष रोग नियंत्रण अधिकारी ने पिछले महीने माना था कि उसके टीके वायरस के खिलाफ कम सुरक्षा प्रदान करते हैं. जिसके बाद चीनी वैक्सीन पर सवाल उठने लगे हैं.

दुबई. संयुक्त अरब अमीरात ने मंगलवार को घोषणा की कि वह चीन निर्मित सिनोफार्म कोरोना वायरस (Sinopharm vaccine) रोधी वैक्सीन लगवाने वालों को उनके शुरुआती दो-खुराक के छह महीने बाद बूस्टर डोज देगा. चीन की वैक्सीन लगवाने के बाद यूएई औपचारिक रूप से बूस्टर डोज पेश करने वाला दुनिया का पहला देश है. संयुक्त अरब अमीरात (UAE) में कुछ लोगों ने वैक्सीन लगवाई, लेकिन उनमें पर्याप्त एंटीबॉडी नहीं बनी. इन सब के बीच सऊदी, बूस्टर डोज देगा. चीन के शीर्ष रोग नियंत्रण अधिकारी ने पिछले महीने माना था कि उसके टीके वायरस के खिलाफ कम सुरक्षा प्रदान करते हैं. जिसके बाद चीनी वैक्सीन पर सवाल उठने लगे हैं. सिनोफार्म वैक्सीन संयुक्त अरब अमीरात के टीकाकरण अभियान का मुख्य आधार है. हालांकि बूस्टर डोज के ऐलान के बाद माना जा रहा है कि चीन की वैक्सीन ‘बेअसर’ है. चीनी निर्माता ने सिनोफार्म वैक्सीन के बारे में बहुत कम सार्वजनिक डेटा जारी किया है. ऐसे में चीनी दावों पर लोग सवाल उठा रहे हैं. विश्व स्वास्थ्य संगठन ने इस महीने की शुरुआत में सिनोफार्म शॉट को इमरजेंसी में इस्तेमाल करने की स्वीकृति प्रदान की. हंगरी, पाकिस्तान, सर्बिया और हिंद महासागर में एक द्वीप राष्ट्र सेशेल्स सहित कई सरकारें पहले से ही सिनोफार्म का इस्तेमाल कर रही हैं. वर्ल्ड एक्सपो की मेजबानी के लिए तैयारी में जुटा दुबईइस साल मार्च में संयुक्त अरब अमीरात सिनोफार्म वैक्सीन के अपने स्थानीय संस्करण का निर्माण करने वाला दुनिया का पहला देश बन गया. UAE सरकार टीकाकरण के जरिए दुबई को इस साल अक्टूबर में बहुप्रतीक्षित वर्ल्ड एक्सपो की मेजबानी के लिए तैयारी में जुटा हुआ है. इसमें लगभग 2.5 करोड़ लोगों के आने की उम्मीद है. अमीरात स्वास्थ्य प्रवक्ता डॉ. फरीदा अल-होसानी ने कहा, ‘अधिकतम सुरक्षा प्रदान करने के लिए लोगों के सिनोफार्म लगवाने वाले नागरिकों को बूस्टर डोज की व्यवस्था की गई है.’

उधर, चीनी अधिकारियों ने सऊदी के बूस्टर डोज को व्यापक रूप से विस्तारित करने के फैसले पर तत्काल कोई नई टिप्पणी नहीं की. इस महीने की शुरुआत में, बहरीन में स्वास्थ्य अधिकारियों ने बताया कि सिनोफॉर्म के बाद एक बूस्टर डोज जल्द ही उपलब्ध होगा. बहरीन ने दावा किया है कि इसके जरिए वह हर्ड इम्यूनिटी बढ़ाना चाहता है.







[ad_2]

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here