नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने कोरोना वायरस की स्थिति (Coronavirus Situation) को लेकर तेलंगाना, आंध्र प्रदेश, ओडिशा और झारखंड के मुख्यमंत्रियों से बातचीत की. प्रधानमंत्री मोदी ने पुडुचेरी और जम्मू कश्मीर के उपराज्यपाल से भी इस संबंध में बातचीत की. बता दें देश में कोरोना वायरस के मामलों में तेजी से इजाफा हो रहा है. ऐसे में प्रधानमंत्री कोरोना की दूसरी लहर का सामना कर रहे देश की स्थिति की लगातार समीक्षा कर रहे हैं. इससे पहले पीएम मोदी ने गुरुवार को ही पूरी स्थिति की समीक्षा की. प्रधानमंत्री मोदी ने उच्च स्तरीय बैठक में देश में कोविड-19 की राज्य और जिलावार स्थिति की समीक्षा की और इस दौरान उन्होंने निर्देश दिया कि स्वास्थ्य ढांचे को दुरूस्त करने में राज्यों को सहयोग और मार्गदर्शन दिया जाना चाहिए. प्रधानमंत्री कार्यालय की ओर से जारी एक बयान के मुताबिक प्रधानमंत्री मोदी ने टीकाकरण की गति को बनाए रखने के लिए राज्यों को संवदेनशील होकर काम करने की आवश्यकता पर बल दिया. ये भी पढ़ें- कोरोना से जंग, वैक्सीन, ऑक्सीजन को तुरंत पहुंचाने में यूं मदद कर रहा AAI 12 राज्यों में एक लाख एक्टिव केस की दी गई जानकारीबयान में कहा गया कि बैठक के दौरान प्रधानमंत्री को कोविड-19 की राज्य और जिलावार स्थिति की विस्तृत जानकारी दी गई. उन्हें उन 12 राज्यों के बारे में बताया गया जहां एक लाख से अधिक सक्रिय मामले हैं. साथ ही अत्यधिक प्रभावित जिलों के बारे में भी प्रधानमंत्री को अवगत कराया गया. बयान में कहा गया, ‘‘राज्यों द्वारा स्वास्थ्य ढांचें में तेजी से की जा रही वृद्धि के बारे में अवगत कराया गया. प्रधानमंत्री ने निर्देश दिया कि राज्यों को स्वास्थ्य ढांचे को दुरुस्त करने में सहयोग और मार्गदर्शन प्रदान किया जाना चाहिए.’’ बैठक में राजनाथ सिंह, अमित शाह, निर्मला सीतारमण, हर्षवर्धन, पीयूष गोयल, मनसुख भाई मंडविया सहित अन्य मंत्रियों और शीर्ष अधिकारियों ने हिस्सा लिया. बैठक में त्वरित और समग्र निषिद्ध उपायों के बारे में भी चर्चा की गई.
ये भी पढ़ें- कोविड-19 इफेक्ट: गोवा सरकार ने रद्द की राज्य में फिल्मों और टीवी शोज की शूटिंग दवाइयों और टीके की उपलब्धता की भी की समीक्षा प्रधानमंत्री ने इस दौरान दवाइयों की उपलब्धता की भी समीक्षा की. उन्हें रेमडेसिविर सहित अन्य आवश्यक दवाइयों का उत्पादन बढ़ाने संबंधी प्रयासों से अवगत कराया गया. पीएम मोदी ने इस दौरान टीकाकरण अभियान की प्रगति के साथ ही अगले कुछ महीनों में टीकों का उत्पादन बढ़ाने की समीक्षा की गई. प्रधानमंत्री को बताया गया कि राज्यों को अब तक 17.7 करोड़ टीके भेजे गए हैं. टीकों की बर्बादी की उन्होंने राज्यवार समीक्षा भी की. बयान के मुताबिक 45 वर्ष से अधिक उम्र के 31 प्रतिशत पात्र लोगों को टीके की पहली खुराक दी जा चुकी है.

ज्ञात हो कि भारत में कोरोना वायरस के मामले हर दिन एक नया रिकॉर्ड तोड़ रहे हैं और बृहस्पतिवार को संक्रमण के 4,12,262 नए मामले दर्ज किए गए तथा 3,980 लोगों ने इस महामारी से जान गंवाई. इसके साथ ही संक्रमण के कुल मामले देश में 2,10,77,410 हो गए और मृतकों की संख्या 2,30,168 पर पहुंच गई.

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here