[ad_1]

किसान ने अपनी पांच बीघा फूलगोभी पर ट्रैक्‍टर चला दिया.

किसान ने अपनी पांच बीघा फूलगोभी पर ट्रैक्‍टर चला दिया.

Shamli News: यूपी के शामली में एक किसान फूलगोभी (Cauliflower) एक रुपये किलो बिकने इतना निराश हो गया कि उसने पूरी फसल पर ट्रैक्‍टर चला दिया. जबकि इस मामले में डीएम ने बागवानी अधिकारियों और एसडीएम को एक रिपोर्ट सौंपने का निर्देश दिया है.

  • News18Hindi

  • Last Updated:
    December 17, 2020, 10:58 PM IST

शामली. उत्‍तर प्रदेश के शामली (Shamli) में एक किसान फूलगोभी (Cauliflower) एक रुपये किलो बिकने इतना निराश हो गया कि उसने ट्रैक्टर चलाकर नष्ट अपनी कई बीघा फसल नष्ट कर दी. इसके साथ ही किसान ने नए कृषि कानूनों को रद्द करने की मांग को लेकर दिल्ली में लगातार 20 दिन से चल रहे किसान आंदोलन का समर्थन किया है. किसान ने कहा कि केंद्र सरकार के तीनों कृषि कानून किसानों के लिए नुकसानदायक हैं. जबकि इस मामले को लेकर प्रशासन भी हरकत में आया है. शामली की डीएम जसजीत कौर (DM Jasjit Kaur) ने कहा कि एक मामला हमारे संज्ञान में आया है, जहां मायापुरी गांव में एक किसान ने अपनी फूलगोभी की फसल को नष्ट कर दिया. बागवानी अधिकारियों और एसडीएम को निर्देश दिया गया है कि वह उनसे जाकर मिलें. उन्हें आगे की कार्रवाई के लिए एक विस्तृत रिपोर्ट प्रस्तुत करने के लिए कहा गया है.

किसान ने कही ये बात
उत्‍तर प्रदेश के शामली के कैराना क्षेत्र के मायापुर गांव के निवासी किसान रमेश ने कहा कि उसने खून पसीने से अपने खेत में करीब 5 बीघा शानदार फूलगोभी की फसल उगाई थी. जबकि पिछले दिनों वह फूलगोभी के 76 कट्टे दिल्ली मंडी में बेचने के लिए ले गया था, लेकिन वहां कई दिनों बाद भी उसकी फूलगोभी नहीं बिक सकी और वह खराब हो गई. साथ ही कहा कि अन्य मंडियों में उसकी फूलगोभी को केवल एक रुपये प्रति किलोग्राम खरीदा गया. जबकि फूलगोभी की फसल तैयार करने के लिए 4 से 5 हजार रुपये प्रति बीघा खर्च आता है. इस वजह से मैंने फूलगोभी की खड़ी फसल पर ट्रैक्टर चलाकर उसे नष्ट कर दिया.

कृषि कानून वापस ले सरकार
फूलगोभी की 5 बीघा फसल पर ट्रैक्‍टर चलाने वाले किसान रमेश ने कहा कि केंद्र सरकार के तीनों कृषि कानून किसानों के लिए नुकसानदायक हैं, जिसे सरकार को खत्‍म कर देना चाहिए. वैसे दिल्‍ली में पिछले बीस दिन से उत्‍तर प्रदेश, हरियाणा और पंजाब समेत देशभर के तमाम किसान संगठन केंद्र सरकार के तीन नए कृषि कानूनों को खत्‍म करने के लिए आंदोलन कर रहे हैं. हालांकि अब तक किसानों और केंद्र सरकार के बीच कई दौर की बातचीत को चुकी है, लेकिन कोई समाधान नहीं निकला है. इस बीच किसान द्वारा फसल की सही कीमत नहीं मिलने पर उसे ट्रैक्‍टर चलाकर नष्‍ट करना चर्चा का कारण बना हुआ है.



[ad_2]

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here