लावारिस हालत में हो रहा था उपचार निज़ाम के रूप में मिला वारिश

लावारिश के सेवा के लिए आगे आये समाजसेवी निज़ाम मास्टर

सुल्तानपुर 18 अप्रैल को जिले के नस्सरगंज मस्जिद गभड़िया के पास से 14 अप्रैल को 50 वर्ष का अधेड़ व्यक्ति कामा लापता हो गए थे ।कामा की भाषा अजीब है कोई समझ नही सकता यही है उनकी मुख्य कमजोरी जो दर दर भटकने को मजबूर है अपनी समस्या और बात किसी को समझा और कह नही सकते। जिनकी सघन तलाश करने के लिये समाज सेवी निज़ाम खान और समाजवादी पार्टी इसौली नेता मेराज अहमद ने सोशल मीडिया व्हाट्सएप फेसबुक लोगो से अपील किया और सुल्तानपुर से निकलने वाली मुख्य मार्गो में वाराणसी,इलाहाबाद फैज़ाबाद लखनऊ रायबरेली कादीपुर हलियापुर सभी सड़को पर चल होटलों ढाबो पर खोजबीन किया रेलवे स्टेशन ,बस स्टेशन ,अस्पतालो में लेकिन कामा का कहि पता नही चला ।
दिनांक 18 अप्रैल को करीब 11 बजे जिला अस्पताल से एक नर्स सुनीता का फोन समाजसेवी निज़ाम खान के मोबाइल आया कि आप कामा को जानते है उनकी डिटेल पूछी नर्स ने उसके बाद बताया कि जरनल वार्ड बेङ नम्बर 5 पर कामा भर्ती है उनका इलाज चल रहा है।कामा के मिलने की सुराग मिलते ही मानो मुँह मांगी मुराद पूरी हुई हो आनन- फानन में निज़ाम खान, एजाज खान, सुल्तान महमूद जिला अस्पताल पहुच गए कामा को देख कर जहाँ एक तरफ चेहरे पर खुशी छा गयी वही दूसरी तरफ उनकी दशा देख आंखे फ़टी की फटी रह गयी कामा का बायां पैर में फ्रैक्चर हाथ पर बिगो देख अत्यंत दुख हुआ जब कामा ने अपने परिचित उनका इलाज कराने वाले समाजसेवी निज़ाम खान को देखा तो भावुक होकर रोने लगे। उसके नर्स सुनीता से जब बी एच टी पर कामा को एडमिट कराने वाले कि डिटेल लिया गया तो पता चला कि 16 अप्रैल को प्रातः 8.53 बजे फरीदीपुर कालेज के गेट के सामने लावारिश घायल अवस्था मे पड़े थे 108 एम्बुलेंस चालक अजय कुमार को फोन पर छात्र अभिषेक ने कामा के घायल होने सूचना दी थी किसी बाइक ने कामा को पीछे से टक्कर मार दिया था जिससे गम्भीर रूप से घायल हो गए थे ।अस्पताल में भर्ती होने के उपरांत इनके पैर में फ्लास्टर चढ़ाया गया लावारिश के रूप में इलाज हो रहा था लेकिन अब उनकी सेवा के लिये आगे आये समाजसेवी निज़ाम खान व साथी।अजय कुमार ई एम टी और कोतवाली नगर के सिपाही आशीष यादव ने जिला अस्पताल के इमरजेंसी में लावारिश हालात में एडमिट कराया था। कामा के मिलने पर निज़ाम खान को अपार खुशी हुई उन्होंने कामा की उपचार बेहतरीन
ढंग होने तथा देखभाल करने के लिए मुख्य चिकित्सा अधीक्षक सुरेशचंद्र कौशल ,वरिष्ठ चिकित्सक डॉ एस सी गुप्ता इत्यादि डॉक्टरों और कर्मियों का धन्यवाद ज्ञापित किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here