नई दिल्‍ली. देश में कोरोना वायरस (Coronavirus) का कहर बढ़ता जा रहा है. कोरोना (Corona) के नए आंकड़े हर दिन नया रिकॉर्ड बना रहे हैं. कोरोना जिस तेज रफ्तार से आगे बढ़ रहा है उसे देखते हुए बेंगलुरु (Bengaluru) स्थि‍त इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस (IISC) ने अनुमान लगाया है कि मई तक ये आंकड़ा 1.4 करोड़ को पार कर सकता है. कोरोना के ट्रेंड पर नजर रख रहे शोधकर्ताओं के मुताबिक अप्रैल के मध्‍य तक कोरोना अपने पीक पर हो सकता है और एक्टिव केस 7.3 लाख तक जा सकते हैं.

शोधकर्ताओं के मुताबिक अप्रैल से मई के बीच में कोरोना का संक्रमण तेजी से फैलेगा और मई के अंत तक एक्टिव केस 20 लाख को पार कर जाएंगे. शोधकर्ताओं के मुताबिक अगर अभी से लोग कोरोना नियमों को पालन करें, मास्‍क लगाएं, सोशल डिस्‍टेंसिंग का पालन करें और ज्‍यादा से ज्‍यादा संख्‍या में वैक्‍सीन लगाएं तो कोरोना के तेजी से बढ़ते आंकड़े को रोका जा सकता है.

IISC के प्रोफेसर शशि‍कुमार ने बताया कि अभी तक हमने जो अनुमान लगाया है वह तेजी से कोरेाना के बढ़ते ट्रेंड पर आधारित है. हमारी रिपोर्ट के मुताबिक अकेले अप्रैल के अंत तक केसों की संख्‍या 10.7 लाख तक पहुंच सकती है.इसे भी पढ़ें :- महाराष्ट्र, दिल्ली और UP में बेलगाम कोरोना, जिम और मल्टीप्लेक्स बंद कर सकती है उद्धव सरकार

एक दिन में 90 हजार से ज्‍यादा मिल रहे कोरोना केस

देश में कोरोना की दूसरी लहर काफी तेजी से आगे बढ़ रही है. कोरोना की खतरनाक होती स्थिति का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि देश में कोरोना का आंकड़ा एक दिन में 90 हजार से ज्‍यादा हो चुका है. स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक देशभर में शनिवार को कोविड-19 के 92,943 नए मामले सामने आए हैं.

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here