[ad_1]

खेल जगत को झटका, कम उम्र में ही दुनिया को अलविदा कह गया भारतीय खिलाड़ी

मनितोम्बी सिंह आखिरी बार मणिपुर राज्य लीग में 2015-16 में खेले थे. ( फाइल फोटो)

वह भारतीय टीम की ऐतिहासिक जीत का भी हिस्‍सा थे. उनके परिवार में पत्नी के अलावा आठ साल का बच्चा भी है.

कोलकाता. भारतीय फुटबॉल टीम के पूर्व डिफेंडर और मोहन बागान (mohun bagan) के कप्तान रहे मनितोम्बी सिंह (manitombi singh) का रविवार को 39 साल की उम्र में निधन हो गया. क्लब से जुड़े सूत्रों ने बताया कि उन्होंने मणिपुर के इंफाल के निकट अपने पैतृक गांव में रविवार को सुबह अंतिम सांस ली. वह लंबे समय से बीमारी से पीड़ित थे. उनके परिवार में पत्नी के अलावा आठ साल का बच्चा भी है.

क्लब ने ट्विटर पर पोस्ट किया कि मोहन बागान परिवार को क्लब के पूर्व कप्तान मनितोम्बी सिंह के असामयिक निधन से गहरा दुख हुआ है. क्लब ने कहा कि इस मुश्किल समय में हमारी संवेदना परिवार के साथ है. मनितोम्बी सिंह की आत्मा को शाांति मिले.

एलजी कप जीतने वाली टीम का थे हिस्‍सा
मनितोम्बी कोच स्टीफन कांस्टेंटाइन की उस भारतीय अंडर -23 टीम के प्रमुख सदस्य थे, जिसने 2003 में हो ची मिन्ह सिटी में वियतनाम को 3-2 से हराकर एलजी कप जीता था. सिंगापुर में 1971 में आठ देशों के टूर्नामेंट को जीतने के बाद यह भारत की पहली अंतरराष्ट्रीय खिताबी जीत थी.यह भी पढ़ें: 

पहले टेस्ट में मिली हार से भड़के शोएब अख्तर, कहा- खिलाड़ियों ने नहीं की जीत के लिए कोशिश

खेलों की दुनिया: वक्त के साथ बदल गया है तलवारबाजी का अंदाज, जानिए क्या है नए नियम और फॉर्मेट

मनितोम्बी ने 2002 बुसान एशियाई खेलों में भारत का प्रतिनिधित्व किया था. उन्होंने 2003 में मोहन बागान के लिए पदार्पण किया और 2004 में उनकी कप्तानी में टीम ने ऑल एयरलाइन्स गोल्ड कप की विजेता बनी. वह आखिरी बार मणिपुर राज्य लीग में 2015-16 में खेले थे.



[ad_2]

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here