लिएंडर पेस की गिनती दुनिया के बेहतरीन डबल्स खिलाड़ियों में की जाती है. (फाइल फोटो)

लिएंडर पेस की गिनती दुनिया के बेहतरीन डबल्स खिलाड़ियों में की जाती है. (फाइल फोटो)

फाइनल से पहले पेस (Leander Paes) ने अपने ट्विटर अकाउंट पर लिखा था कि घरेलू जमीन पर आखिरी टूर्नामेंट के फाइनल में होना काफी खुशी की बात है.

  • News18Hindi

  • Last Updated:
    February 16, 2020, 10:18 AM IST

बेंगलुरु. घरेलू कोर्ट पर एटीपी टूर का अपना आखिरी मुकाबला खेल रहे भारत के अनुभवी खिलाड़ी लिएंडर पेस (Leander Paes) और उनके जोड़ीदार मैथ्यू एबडेन को शनिवार को बेंगलुरु ओपन के फाइनल में हार का सामना करना पड़ा. पेस और उनके ऑस्ट्रेलियाई जोड़ीदार को चौथी वरीयता प्राप्त पूरव राजा और रामकुमार रामनाथन की भारतीय जोड़ी ने 6-0, 6-3 से हराया. फाइनल से पहले पेस ने अपने ट्विटर अकाउंट पर लिखा था कि घरेलू जमीन पर आखिरी टूर्नामेंट के फाइनल में होना काफी खुशी की बात है. अपने आखिरी मुकाबले के बाद पेस ने फैंस को शुक्रिया कहा, उन्हें ऑटोग्राफ दिए और तस्वीरें खिंचवाई. इस दौरान वह काफी भावुक दिखाई दिए.

ट्वीट करके दी थी आखिरी घेरलू मैच खेलने की जानकारी
उन्होंने ट्वीट किया, ‘किसी ने मुझ से कहा, अपने घरेलू मैदान पर आखिरी टूर्नामेंट के फाइनल में पहुंचने के बारे में सोचो. मैंने कहा, ‘यह सपने की तरह होगा. और यह सपना आज सच हो रहा है.’ खुशी इस बात की भी है कि आज एक भारतीय ही इस खिताब को जीतेगा.’ ओलिंपिक में कांस्य पदक जीतने वाले 46 साल के पेस पहले ही कह चुके है कि पेशेवर सर्किट में यह उनका आखिरी साल है.

tennis, leander paes, paes retirement, paes records, टेनिस, लिएंडर पेस, लिएंडर पेस रिटायरमेंट, पेस रिकॉर्ड

दिग्गज टेनिस खिलाड़ी लिएंडर पेस ने अपने करियर में 18 ग्रैंडस्लैम खिताब जीते हैं. (फाइल फोटो)

पेस के साथ ग्रैंडस्लैम का तीन खिताब जीतने वाले भूपति ने कहा, ‘वह अभी भी अच्छा खेल रहे है. वह बेंगलुरु एटीपी के फाइनल में पहुंचे. अगर वह कुछ और महीने तक अच्छा खेलना जारी रखते है तो एक और साल खेलने पर विचार कर सकते है. मुझे लगता है कि वह जिस तरह से खेल रहे है, उन्हें तब तक खेलना चाहिए जब तक वह खेल सकते है.’

भूपति से जब पूछा गया कि क्या पेस टोक्यो ओलंपिक की टीम में जगह बना सकते है तो उन्होंने कहा, ‘इसके लिए दावेदारी में चार-पांच खिलाड़ी है. हमें अंतिम तारीख (जून के आखिर में) तक इंतजार करना होगा.’ पेस को अगर तोक्यो ओलंपिक में देश का प्रतिनिधित्व करने का मौका मिलता है तो यह रिकॉर्ड आठवां मौका होगा जब वह इस प्रतियोगिता में खेलेंगे.

roger Federer, leander paes, australian open, sports news रोजर फेडरर, लिएंडर पेस, स्पोर्टस न्‍यूज, ऑस्ट्रेलियन ओपन

लिएंडर पेस ने जनवरी में आखिरी ऑस्ट्रेलियन ओपन खेला था

पेस ने हासिल की हैं कई उबलब्धियां
भारतीय टेनिस में पेस (Leander paes)  का सबसे बड़ा योगदान रहा. टेनिस जगत में पेस ने दुनिया को भारत का दम दिखाया. पहले जूनियर यूएस ओपन और जूनियर विबंलडन का‌ खिताब अपने नाम किया. सिर्फ जूनियर में दुनिया के नंबर एक खिलाड़ी बने. 1996 में ओलिंपिक में ब्रॉन्ज मेडल, 18 ग्रैंड स्लैम, 44 डेविस कप के मुकाबले जीते, 30 साल लंबा करियर,सात ओलिंपिक खेलने वाले पहले टेनिस खिलाड़ी, डबल्स के नंबर एक टेनिस खिलाड़ी, ये सब पेस के करियर की उपलब्धि है. जिसके आस पास अभी तक कोई भारतीय पहुंच भी नहीं पाया.

21 फरवरी से शुरू होगा टी20 वर्ल्ड कप का सातवां सीजन, क्या भारत बनेगा चैंपियन

आईपीएल के शेड्यूल को लेकर बड़ी खबर, जानिए कहां और किसके बीच होगा पहला मुकाबला









Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here