प्रतीकात्मक तस्वीर.

प्रतीकात्मक तस्वीर.

Chinese Artificial Sun: चीन (China) के वैज्ञानिकों द्वारा तैयार किया गया ‘नकली सूरज’ (Artificial Sun) असली सूर्य से 10 गुना अधिक ताकतवर है. ये असली सूर्य की तरह ही प्रकाश भी देगा और ऊर्जा की जरूरतों को पूरा करेगा.

बीजिंग. चीन ने वैज्ञानिकों ने हाल ही में कृत्रिम सूरज (Artificial Sun) बनाने का दावा किया है. डेली मेल की रिपोर्ट के मुताबिक चीन द्वारा तैयार किया सूरज असली सूरज की तुलना में 10 गुना ताकतवर (Powerful) यानी प्रकाश देगा. 10 सेकेंड में कृत्रिम सूरज का तापमान 16 करोड़ डिग्री सेल्सियस के करीब पहुंच गया. इसका अर्थ यह है कि प्राकृतिक सूरज की तुलना में गर्मी 10 गुना ज्यादा रही खास बात यह है कि यह तापमान करीब 100 सेकेंड तक कायम भी रहा.

शेंजेन स्थित दक्षिणी विज्ञान एवं प्रोद्योगिकी विश्वविद्यालय के फिजिक्स डिपार्टमेंट के निदेशक ली मियाओं कहते हैं कि अगले कुछ हफ्तों तक स्थिर तापमान पर हमें अपने प्रोजेक्ट को चलाना है. 100 सेकेंड तक 16 करोड़ डिग्री का तापमान बनाए रखना भी अपने आपमें बड़ी सफलता है और इसे स्थिर बनाए रखना है. चीन के अनहुई राज्य में एक रिएक्टर में इस कृत्रिम सूरज को बनाया गया है. इसमें न्यूक्लियर संलयन की मदद ली गई है सामान्य तौर पर इस तकनीक के जरिए हाइड्रोजन बम बनाया जाता है. इसमें गर्म प्लाज्मा को फ्यूज करने के स्ट्रांग मैगनेटिक फील्ड का निर्माण किया जाता है. इसमें अत्यधिक गर्मी पैदा होती है.

ये भी पढ़ें: गलवान का सच बताने वाले ब्लॉगर को चीन में मिली कैद, अदालत बोली- आरोपी ने कुबूल किया जुर्म

फ्रांस में भी न्यूक्लियर फ्यूजन पर कामफ्रांस में भी न्यूक्लियर फ्यूजन पर काम किया जा रहा है, बताया जा रहा है कि फ्रांस का प्रोजेक्ट 2025 में पूरी होगी. इसके अलावा कोरिया भी केएसटीएआर के जरिए कृत्रिम सूरज बनाने में कामयाब हुआ है जिससे 20 सेकेंड के लिए 10 करोड़ डिग्री सेल्सियस तापमान स्थिर किया गया.









Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here