[ad_1]

चीन ने बांग्लादेश से बढ़ाई करीबी, 26 अरब अमरीकी डॉलर कर रहा है निवेश

चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग

भारत से संबंधों में कटुता आने के बाद चीन, बांग्लादेश (China-Bangladesh) की ओर दोस्ती का हाथ बंटा रहा है. वह बांग्लादेश में 26 बिलियन अमरीकी डॉलर का निवेश और 38 बिलियन अमरीकी डालर की फंडिंग कर रहा है.

बीजिंग. चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग (Xi Jinping) ने रविवार को बांग्लादेश के साथ द्विपक्षीय राजनयिक संबंधों की स्थापना की 45 वीं वर्षगांठ पर बांग्लादेश के राष्ट्रपति मोहम्मद अब्दुल हमीद (Mohammad Abdul Hameed) को बधाई संदेश भेजा. चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने कहा कि वे बांग्लादेश के नेताओं के साथ संयुक्त रूप से दोनों देशों की रणनीतियों का निर्माण करने और रणनीतिक साझेदारी को नई ऊंचाइयों पर ले जाने के लिए अपने बहु-अरब डॉलर के बेल्ट एंड रोड इनिशिएटिव (BRI) के निर्माण को बढ़ावा देने के लिए तैयार हैं. अपने संदेश में राष्ट्रपति जिनपिंग ने बांग्लादेश के साथ स्थिर और दीर्घकालिक दोस्ती की सराहना करते हुए कहा कि चीन ने दिया सबसे ज्यादा फायदा बांग्लादेश को पहुंचाया है.

26 अरब अमरीकी डॉलर निवेश करेगा चीन

26 बिलियन अमरीकी डालर से अधिक चीनी निवेश और 38 बिलियन अमरीकी डालर के फंडिंग प्रतिबद्धताओं के साथ बांग्लादेश चीन की विशाल आधारभूत इंफ्रास्ट्रक्चर प्रोजेक्ट के सबसे बड़े प्राप्तकर्ताओं में से एक है. चीन ने 3,095 ड्यूटी फ्री उत्पादों की मौजूदा सूची में 5,161 और वस्तुओं को जोड़कर बांग्लादेश के 97 प्रतिशत निर्यात पर जीरो-टैरिफ ट्रीटमेंट की पेशकश की है. जिस तरह चीन बांग्लादेश, नेपाल, श्रीलंका और मालदीव में अपने विशाल बुनियादी ढांचे के निवेश को आगे बढ़ा रहा है, उससे भारत में इसके बढ़ते प्रभाव की चिंता बढ़ रही है.

इससे पहले भी चीन ने कोरोनावायरस से निपटने के अपने अनुभव को साझा करने के लिए बांग्लादेश में एक चिकित्सा दल भेजा था. बांग्लादेश भी उन एक दर्जन से अधिक देशों में से एक है जहां चीनी वैक्सीन के क्लिनिकल ट्रायल्स के अंतिम फेज का संचालन किया जा रहा है.बांग्लादेशी राष्ट्रपति हामिद ने अपने संदेश में क्या कहा

बांग्लादेशी राष्ट्रपति हामिद ने कहा कि बांग्लादेश-चीन संबंध तेजी से विकसित हो रहा है और दोनों ने मिलकर बहुत से महत्वपूर्ण क्षेत्रों में काम किया है. चीन की सरकारी न्यूज़ एजेंसी जिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार बांग्लादेशी राष्ट्रपति ने बांग्लादेश के बढ़ते सामाजिक-आर्थिक विकास में चीन के निरंतर समर्थन के लिए अपनी गहरी प्रशंसा व्यक्त की है. राष्ट्रपति ने यह भी आशा जताई कि दोनों देशों के बीच घनिष्ठ और मैत्रीपूर्ण संबंध भविष्य में और गहरे होते रहेंगे।

BRI से संबंधित मुद्दों पर हो रहे हैं एकजुट

बीआरआई प्राचीन सिल्क रोड व्यापारिक मार्गों के पुनरुद्धार में एशिया और यूरोप और अफ्रीका से रेल, समुद्री और सड़क संपर्क बनाने का प्रयास कर रहा है. BRI से संबंधित मुद्दे जिसे पहले वन बेल्ट वन रोड (OBOR) के रूप में जाना जाता था, भारत और चीन के बीच विवाद का एक प्रमुख हिस्सा रहा है क्योंकि इस गलियारे का एक हिस्सा पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर से होकर गुजरता है. 2017 में श्रीलंका ने अपने हंबनटोटा पोर्ट को एक चीनी-चालित चीनी फर्म को 99 वर्षों के लिए एक ऋण स्वैप में 1.2 बिलियन अमरीकी डालर की राशि के लिए सौंप दिया था. मलेशिया ने भी लागत पुनर्मूल्यांकन का हवाला देते हुए BRI के तहत कई परियोजनाओं को टाल दिया है.

ये भी पढ़ें: UK: PM बोरिस जॉनसन की मां हुई थीं घरेलू हिंसा की शिकार, पिता ने तोड़ दी थी नाक 

दुनिया में कई वजहों से जनता आंदोलित है, तस्वीरों से जानिए क्यों हो रहा विरोध?

रविवार को ही चीनी प्रधानमंत्री ली केकियांग ने भी बांग्लादेशी प्रधान मंत्री शेख हसीना के साथ बधाई संदेशों का आदान-प्रदान किया.



[ad_2]

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here