सांकेतिक तस्वीर

सांकेतिक तस्वीर

China Visa: चीन ने इस साल के आखिर तक या 2022 के मध्य तक अपनी 70-80 प्रतिशत आबादी को कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के लिए टीका लगाने का लक्ष्य रखा है.

नई दिल्ली.  कोरोना वायरस (Coronovirus) के चलते चीन में विदेश के लोगों को फिलहाल जाने की इजाजत नहीं है. लेकिन अब जल्द ही ये पाबंदियां खत्म होने वाली है. चीन (China) ने कहा है कि जल्द ही वो भारत, अमेरिका और पकिस्तान जैसे देशों के लोगों को अपने देश में एंट्री देगा. हालांकि चीन ने इसके लिए कुछ शर्तें रखी हैं. इसके मुताबिक चीन ने कहा है कि ऐसे लोगों को आसानी से वीज़ा दिया जाएगा जो उनके यहां बनी वैक्सीन लगवा कर आएंगे.

चीन के दूतावास ने कई देशों में वीजा को लेकर नोटिस जारी किया है. इसमें साफ-साफ लिखा है कि अगर कोई चीन की बनी वैक्सीन लगवा कर आएगा तो उन्हें वीज़ा देने की प्रक्रिया शुरू की जाएगी. अमेरिका में भी चीन के दूतावास ने एक ऐसा ही बयान जारी किया है. नियमों के मुताबिक वीज़ा अप्लाई करने से 14 दिन पहले लोगों को वैक्सीन लेनी होगी. बता दें कि चीन ने अपने यहां 4 वैक्सीन को हरी झंडी दी है.

बता दें कि चीन ने अपनी यहां बने वैक्सीन को तुर्की, इंडोनेशिया और कंबोडिया जैसे देशों को भेजा है. संयुक्त राष्ट्र में चीन के राजदूत ने कहा कि चीन संयुक्त राष्ट्र शांतिरक्षकों के लिए कोविड-19 रोधी टीके की तीन लाख खुराक देगा. लेकिन भारत जैसे देश में ये वैक्सीन उपलब्ध नहीं है.

ये भी पढ़ें:- महुआ के सवालों के बाद स्वपन ने राज्यसभा की सदस्यता से दिया इस्तीफाचीन ने इस साल के आखिर तक या 2022 के मध्य तक अपनी 70-80 प्रतिशत आबादी को कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के लिए टीका लगाने का लक्ष्य रखा है. देश के रोग नियंत्रण केंद्र (सीडीसी) के प्रमुख ने शनिवार को यह बात कही. सीडीसी के प्रमुख गाओ फू ने शनिवार को चीनी सरकारी प्रसारणकर्ता सीजीटीएन को बताया कि चार टीकों को मंजूरी मिलने के साथ ही चीन 90 करोड़ से लेकर एक अरब लोगों का टीकाकरण करेगा.








Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here