[ad_1]

सोशल मीडिया पर इस घटना के कुछ वीडियो भी पोस्ट किए गए हैं. (फोटो क्रेडिट: फेसबुक/Ho Helen)

सोशल मीडिया पर इस घटना के कुछ वीडियो भी पोस्ट किए गए हैं. (फोटो क्रेडिट: फेसबुक/Ho Helen)

China’s Building Shakes: यह शेंजेन (Shenzhen) शहर की 18वीं सबसे ऊंची इमारत है. चीनी अधिकारियों ने बीते साल 500 मीटर से ज्यादा ऊंची इमारतों के निर्माण पर रोक लगा दी थी.

शेंजेन. चीन (China) के शेंजेन शहर में मंगवार को अचानक एक ऊंची इमारत हिलने लगी. इस घटना के बाद से ही इलाके में हड़कंप मच गया और मौके पर मौजूद लोग सुरक्षित स्थान खोजने के लिए भागने लगे. स्थनीय मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, इमारत को दोपहर 2:40 बजे सील कर दिया गया था. कहा जा रहा है कि शहर की जिस इमारत में यह घटना हुई, वहां इलेक्ट्रॉनिक का काफी बड़ा मार्केट और कई दफ्तर मौजूद हैं. रिपोर्ट्स के मुताबिक, करीब 300 मीटर ऊंचा SEG प्लाजा अचानक से हिलने लगा. इसे देखकर नजदीक ही पैदल चल रहे लोगों में अफरा-तफरी मच गई. सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म वीबो पर मौजूद जानकारी के अनुसार, आपातकालीन प्रबंधन अधिकारी मामले की जांच करने में जुट गए हैं. वीबो पर जारी बयान के मुताबिक, ‘अलग-अलग भूकंप निगरानी केंद्रों के डेटा की जांच के बाद पता चला है कि शेंजेन में आज कोई भूकंप नहीं आया था.’ सोशल मीडिया पर इस घटना के कुछ वीडियो भी पोस्ट किए गए हैं. इनमें नजर आ रहा है कि गगनचुंबी इमारत तेजी से हिलने लगी. वीडियो में लोग डरकर भागते हुए भी नजर आ रहे हैं. टॉवर का नाम इलेक्ट्रॉनिक निर्माता शेनजेन इलेक्ट्रॉनिक्स ग्रुप के नाम पर रखा गया था. कंपनी का ऑफिस इसी इमारत के तल पर मौजूद है. घटना का वीडियो यहां देखें- काउंसिल ऑन टॉल बिल्डिंग्स एंड अर्बन हैबिटेट स्कायस्क्रैपर डेटाबेस के अनुसार, यह शेंजेन शहर की 18वीं सबसे ऊंची इमारत है. चीनी अधिकारियों ने बीते साल 500 मीटर से ज्यादा ऊंची इमारतों के निर्माण पर रोक लगा दी थी. खास बात है कि चीन के प्रमुख शहर बीजिंग जैसे कई स्थानों पर यह पाबंदियां पहले से ही लागू हो चुकी हैं.

दुनिया की गगनचुंबी इमारतों में से 5 चीन में ही स्थित हैं. विश्व की दूसरी सबसे ऊंची बिल्डिंग शंघाई टॉवर भी चीन में ही है. इस इमारत की ऊंचाई 632 मीटर है. शेंजेन शहर चीन की कई बड़ी कंपनियों की पसंद है. यहां टेंसेंट और हुवाई समेत कई बड़ी टेक कंपनियो के मुख्यालय हैं. विश्व की चौथी सबसे ऊंची इमारत भी शेंजेन में ही है. हालांकि, चीन में भवनों के गिरने की घटना नई नहीं है. यहां खराब निर्माण मानक और तेजी से हो रहे शहरीकरण के कारण निर्माण जल्दबाजी में किए जा रहे हैं.







[ad_2]

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here