सुलतानपुर 07 अगस्त/जिलाधिकारी रवीश गुप्ता द्वारा शनिवार को कलेक्ट्रेट सभागार में मिशन शक्ति फेज 3.0 अभियान के अन्तर्गत ‘‘हक की बात जिलाधिकारी के साथ‘‘ कार्यक्रम का शुभारम्भ फीता काटने के पश्चात दीप प्रज्वलित कर किया गया। कार्यक्रम में उपस्थिति बालिकाओं एवं महिलाओं को डीएम द्वारा यौन हिन्सा, लैंगिक आसमनता, घरेलू हिंसा, कन्या भ्रूण हत्या, कार्य स्थल पर लैंगिक उत्पीड़न तथा दहेज हिंसा आदि के सम्बन्ध में संरक्षण, सुरक्षा तन्त्र एवं महिलाओं से सम्बन्धित समस्त योजनाओं पर विस्तृत जानकारी दी गयी। उन्होंने कहा कि कन्या सुमंगला योजना की जानकारी जन-जन तक पहुँचायी जाय, महिलाओं को स्वावलम्बी व आर्थिक रूप से सशक्त किया जाय, सरकार की सभी सामान्य योजनाओं में भी कम से कम महिलाओं की एक तिहाई भागीदारी सुनिश्चित की जाय, जिसे बढ़ाकर 50 प्रतिशत तक लाने का प्रयास किया जाय।
पुलिस अधीक्षक डाॅ0 विपिन कुमार मिश्र द्वारा समाज की आधी आवादी को सशक्त करने हेतु शासन एवं प्रशासन किसी भी समय सहयोग के लिये तत्पर है, सभी हेल्पलाइन नम्बर, सेल्फडिफेन्स एवं साइवर क्राइम पर वित्तृत रुप से जानकारी दी गई। जिला विकास अधिकारी डाॅ0 डी0 आर0 विश्वकर्मा द्वारा कार्यक्रम का संचालन करते हुए नारी शक्ति पर विस्तृत रूप से बालिकाओं एवं महिलाओं को मिशन शक्ति अभियान को सफल बनाने हेतु जानकारी प्रदान की गयी। उन्होंने नारी सशक्तिकरण अभियान के सम्बन्ध में विस्तृत प्रकाश डालते हुए नारी शक्ति स्वरूपा है, मानव निर्माण में नारी का अहम योगदान है। वेद एवं पुराणों में नारी को उच्चदर्जा प्राप्त है। जिला प्रोबेशन अधिकारी वी0पी0 वर्मा द्वारा मिशन शक्ति अभियान की विस्तृत कार्य योजना पर जो कि 07 अगस्त, 2021 तक आयोजित होने वाले विभिन्न कार्यक्रमो के सम्बन्ध में उपस्थिति बालिकाओं एवं महिलाओं को अवगत कराया गया।
तत्पश्चात सदर तहसील में आयोजित सम्पूर्ण समाधान दिवस के अवसर पर जिलाधिकारी रवीश गुप्ता की अध्यक्षता में मा0 मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना की बैठक आयोजित की गई। डीएम द्वारा सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देश दिया गया कि जनपद नोडल अधिकारी/प्रमुख सचिव, महिला कल्याण एवं बाल विकास पुष्टाहार विभाग उ0प्र0 शासन के द्वारा निर्धारित लक्ष्य 6500 को 18.08.2021 तक पूर्ण करने के निर्देश प्राप्त हुये हंै, जिसके सम्बन्ध में प्रथम श्रेणी एवं द्वितीय श्रेणी में आवेदन करवाने हेतु 2500 का लक्ष्य मुख्य चिकित्साधिकारी को दिया गया है। जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी को तृतीय एवं चतुर्थ श्रेणी में आवेदन करवाने हेतु 2500 का लक्ष्य दिया गया है। जिला विद्यालय निरीक्षक, को पाॅचवी व छठवी श्रेणी में आवेदन करावाने हेतु 1500 का लक्ष्य निर्धारित किया गया।
इस मौके पर मुख्य विकास अधिकारी अतुल वत्स द्वारा सम्बन्धित अधिकारियो को निर्देशित किया गया कि उपरोक्त निर्धारित लक्ष्य को 18.08.2021 तक प्रत्येक दशा में शत् प्रतिशत पूर्ण करना सुनिश्चित करें। जिला प्रोबेशन अधिकारी वी0पी0 वर्मा द्वारा मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना सहित विभाग के अन्य योजनाओं के बारे में विस्तृत जानकारी प्रदान की गई।
कलेक्ट्रेट में आयोजित कार्यक्रम में अपर जिलाधिकारी (प्रशा0) हर्षदेव पाण्डेय, जिला अर्थ एवं संख्या अधिकारी पन्नालाल, जिला कार्यक्रम अधिकारी दिनेश सिंह, जिला सूचना अधिकारी धीरेन्द्र कुमार, संरक्षण अधिकारी, जिला बाल संरक्षण इकाई, रुपाली सिंह, महिला कल्याण अधिकारी, महिला शक्ति केन्द्र, रेखा गुप्ता, केन्द्र प्रशासक, वन स्टाप सेंटर सीता सिंह एवं समस्त कर्मचारी आदि उपस्थित रही।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here