🔀🔀🔀🔀🔀🔀🔀🔀🔀
लखनऊ
राज्य में बुलडोजर के जरिए माफिया की अवैध संपत्ति को गिराया जा रहा है और राज्य सरकार के निशाने पर अभी 50 माफिया है. राज्य सरकार ने इसकी लिस्ट तैयार की है. राज्य के अपर मुख्य सचिव कानून व्यवस्था अवनीश अवस्थी ने कहा कि राज्य में माफिया के खिलाफ गैंगस्टर एक्ट के तहत कार्रवाई जारी रहेगी. उन्होंने कहा कि सीएम ने निर्देश दिया है कि निर्दोष और कमजोर के खिलाफ कार्रवाई न हो.

अवस्थी ने कहा कि माफिया के खिलाफ ‘बुलडोजर कार्रवाई’ जारी रहेगी और इसके लिए राज्य सरकार 50 माफियाओं पर नजर रखेंगी. जबकि पहले इनकी संख्या 25 थी. गौरतलब है कि राज्य में फिर से सीएम बनने के बाद योगी आदित्यनाथ ने माफियाओं के खिलाफ एक्शन लेने के लिए गृह विभाग को निर्देश दिए हैं. वहीं राज्य में पूर्व की योगी आदित्यनाथ सरकार में भी माफियाओं के खिलाफ एक्शन लिया गया था. राज्य में माफियाओं की अरबों की संपत्ति को जब्त कर लिया गया था और कई अवैध मकानों और बिल्डिंग को गिरा दिया गया था. जिसके बाद माफियाओं में सरकार को लेकर खौफ है. जानकारी के मुताबिक पूर्व की योगी सरकार का बुलडोजर राज्य के 25 माफियाओं पर चला और सरकार ने इन माफियाओं से करीब 1500 करोड़ से अधिक की संपत्ति को जब्त किया.

इन माफियाओं की संपत्तियों पर चला था बुलडोजर

▶️ योगी सरकार-1 का बुलडोजर राज् के 25 गैंगस्टरों पर चला था और इसमें गाजीपुर के मुख्तार अंसारी और प्रयागराज के अतीक अहमद का नाम सबसे प्रमुख है. इसके साथ ही वाराणसी के बृजेश कुमार सिंह उर्फ अरुण कुमार सिंह, लखनऊ के ओमप्रकाश उर्फ बबलू श्रीवास्तव, बिजनौर के मुनीर, अंबेडकर नगर के खान मुबारक, गाजियाबाद के अमित कसाना, शामली के आकाश जाट, मेरठ के उधम सिंह और योगेश भदौड़ा, बागपत के अजीत उर्फ हप्पू, मुजफ्फरनगर के सुशील उर्फ मूच और संजीव माहेश्वरी उर्फ जीवा, गौतमबुद्ध नगर के सुंदर भाटी उर्फ नेताजी और अनिल भाटी, अनिल दुजाना उर्फ अनिल नागर, सिंहराज भाटी, अंकित गुर्जर, वाराणसी के सुभाष सिंह ठाकुर, आजमगढ़ के ध्रुव कुमार सिंह उर्फ कुंटू सिंह, गाजीपुर के उमेश राय उर्फ गौरा राय और लखनऊ के त्रिभुवन सिंह उर्फ पवन कुमार, लखनऊ के मो. सलीम, मोहम्मद सोहराब और मोहम्मद रुस्तम की संपत्ति बुलडोजर चला और इन माफियाओं की संपत्ति को सरकार ने जब्त किया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here