झांसी: भारतीय जनता पार्टी के गरौठा सीट से विधायक जवाहर लाल राजपूत नवाबाद थाने में धरने पर बैठ गए

झांसी: भारतीय जनता पार्टी के गरौठा सीट से विधायक जवाहर लाल राजपूत नवाबाद थाने में धरने पर बैठ गए

Jhansi Panchayat Chunav: भारतीय जनता पार्टी के गरौठा सीट से विधायक जवाहर लाल राजपूत शुक्रवार देर रात नवाबाद थाने में धरने पर बैठ गए. उन्होंने आरोप लगाया कि दतावली मतदान केंद्र पर जिन लोगों ने बूथ कैप्चरिंग की, पुलिस उन्हें बचाना चाहती है.

झांसी. उत्तर प्रदेश के झांसी (Jhansi) में पंचायत चुनाव (Panchayat Election) के लिये 15 अप्रैल को हुए मतदान में बवाल अब धरना-प्रदर्शन में बदलने लगा है. मतदान के दिन जिले में कई जगह पोलिंग बूथों में घुसकर दबंगों के तोड़फोड़ की, मतपेटियों को लूटकर भागने, मतपेटिकाओं में पानी डालने, मतदान केन्द्र पर मतदान कर्मियों को जमकर पीटने के साथ पुलिस पर हमले की कई घटनाएं सामने आईं. मामले में झांसी से लेकर लखनऊ में बैठे पुलिस प्रशानिक अफसरों में हड़कंप मच गया.

मतदान के दिन मोथ ब्लॉक के दतावली पोलिंग स्टेशन पर दबंगों ने पोलिंग बूथ के अंदर घुसकर जिस तरह का तांडव मचाया था, उसको लेकर शांतिपूर्ण और सकुशल चुनाव करवाने की झांसी पुलिस के दावे की हवा निकल गई थी. इस मामले में भारतीय जनता पार्टी के गरौठा सीट से विधायक जवाहर लाल राजपूत शुक्रवार देर रात नवाबाद थाने में धरने पर बैठ गए. उन्होंने आरोप लगाया कि दतावली मतदान केंद्र पर जिन लोगों ने बूथ कैप्चरिंग की, पुलिस उन्हें बचाना चाहती है.

पुलिस और प्रत्याशी की मिलीभगत से मतपेटियां लूटी गईं

उन्होंने आरोप लगाया कि पुलिस और प्रत्याशी की मिलीभगत से बूथ पर बवाल होने के बाद पोलिंग स्टेशन पर मतपेटिकाएं तक लूट ली गई थी. पोलिंग स्टेशन पर जिन लोगों ने बूथ कैप्चरिंग का विरोध करने के बाद मामले की शिकायत जिला प्रशासन से की थी, उन्हें ही गिरफ्तार कर लिया है. विधायक ने कहा कि जिन लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है, उन्हें जब तक रिहा नहीं किया जाता, वे धरने पर बैठे रहेंगे.जमीन पर अकेले धरने पर बैठे भाजपा विधायक

नवाबाद थाने में धरने पर बैठे विधायक ने कहा कि दतावली गांव में हो रहे चुनाव में ग्राम प्रधान के 10 में से नौ प्रत्याशियों ने आरोप लगाया था कि पुलिस, प्रशासन व पीठासीन अधिकारी ने मिलकर बूथ कैप्चरिंग कराई है. इसका विरोध और शिकायत करने के लिए वे जिलाधिकारी और एसएसपी से मिलना चाह रहे थे. विधायक के मुताबिक, वे आवेदन लेकर कचहरी हमारे पास भी आए थे. हमें एसएसपी ने मिलने का समय दिया, लेकिन उनसे मिलने से पहले ही उन प्रत्याशियों को गिरफ्तार करा लिया गया.

प्रशासन पर लगाया बूथ कैप्चरिंग करवाने का आरोप

विधायक ने कहा कि जिन्होंने बूथ कैप्चरिंग की है, पुलिस और प्रशासन उन्हें बचाना चाहता है. दस में से नौ प्रत्याशी एक तरफ हैं और एक प्रत्याशी एक तरफ है. पुलिस और जिला प्रशासन ने मिलकर बूथ कैप्चरिंग कराई है. जो लोग शिकायत करने आए, उन्हें शिकायत के पहले ही अरेस्ट कर लिया गया. हमने सभी अधिकारियों से बात की, लेकिन कोई आश्वासन नहीं मिला तो यहां बैठ गए. भाजपा विधायक जवाहर राजपूत ने आरोप लगाया कि थाने में पुलिसकर्मियों ने उनके साथ दुर्व्यवहार भी किया. एसएसपी से मिलने का समय मांगा, इस पर एसएसपी ने मिलने से इनकार करते हुए मेरे पास एसटीएफ को भेज दिया.









Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here