[ad_1]

केबिन क्रू को डाइपर पहनने की सलाह (फोटो- AP)

केबिन क्रू को डाइपर पहनने की सलाह (फोटो- AP)

Coronavirus Update: चीन ने एयरलाइंस के लिए नई गाइडलाइंस जारी की हैं जिसमें प्लेन के क्रू मेम्बर्स को टॉयलेट इस्तेमाल न करने और डाइपर पहनने की सलाह दी गयी है.

  • News18Hindi

  • Last Updated:
    December 11, 2020, 7:25 AM IST

बीजिंग. कोरोना संक्रमण (Coronavirus) फैलने के साधनों को लेकर अभी भी वैज्ञानिकों में मतभेद हैं. हालांकि चीन (China) ने अब कोरोना के संक्रमण फैलने से रोकने के लिए एयरलाइंस के कर्मचारियों खासकर क्रू मेम्बर्स के लिए नई गाइडलाइंस जारी की हैं. इन नई गाइडलाइंस में एयरहोस्टेस और अन्य क्रू मेम्बर्स को फ्लाइट के दौरान टॉयलेट इस्तेमाल न करने की सलाह दी गयी है. चीन के सिविल एविएशन रेगुलेटर ने इसके बदले उन्हें डिस्पोजेबल डाइपर इस्तेमाल करने के लिए कहा है.

CGTN की एक रिपोर्ट के मुताबिक चीन की इस नई गाइडलाइन के बाद चर्चा है कि टॉयलेट के जरिए भी कोरोना फैलने के सबूत मिले हैं. ये पूरी गाइडलाइन 38 पेज की है. यह खास तौर पर उन जगहों तक जाने वाले केबिन क्रू मेम्बर्स के लिए है जहां हर 10 लाख लोगों पर 500 से ज्यादा संक्रमित मिल रहे हैं. डाइपर को पर्सनल प्रोटेक्टिव इक्विपमेंट की लिस्ट में शामिल किया है. सिर्फ केबिन क्रू को डाइपर पहनने के लिए कहा गया है. प्लेन के सभी क्रू मेम्बर्स को मास्क, डबल लेयर वाली डिस्पोजेबल मेडिकल रबर ग्लव्स, चश्मे, डिस्पोजेबल कैप, डिस्पोजेबल कपड़े और शू कवर पहनने की सलाह दी गई है.

केबिन एरिया से फ़ैल रहा संक्रमण!
गाइडलाइंस के मुताबिक प्लेन के केबिन एरिया से संक्रमण फैलने के कई मामले सामने आ चुके हैं. इसी को नज़र में रखकर अब चीन ने प्लेन से सफर को सुरक्षित बनाने के लिए कई कदम उठाने का फैसला लिया है. इस बात का ध्यान रखा है कि कॉकपिट में बैठे लोग संक्रमित नहीं हो सके. केबिन एरिया को बफर जोन बनाने की सलाह दी गई है. इसे साफ सुथरा रखने और पर्दे लगाकर इसे क्वारैंटाइन एरिया में बदलने के लिए कहा गया है. ऐसा प्लेन में सवार दूसरे यात्रियों से संक्रमण केबिन क्रू मेम्बर्स तक पहुंचने से रोकने के लिए किया जाएगा. प्लेन की आखिरी की तीन सीटों को भी पर्दे लगाकर अलग किया जाएगा. इसे भी इमरजेंसी क्वारैंटाइन एरिया में बदला जाएगा.

बता दें कि महामारी से चीन के एविएशन मार्केट पर असर पड़ा है. माना जाता है कि वुहान में ही सबसे पहले संक्रमण के मामले आए, इसके बाद यह दुनिया के दूसरे हिस्सों तक फैला. इसके बाद चीन को बड़े पैमानों पर डोमेस्टिक और इंटरनेशनल फ्लाइट्स कैंसिल करनी पड़ी. अब एयरलाइन्स ने सावधानी बरतते हुए अपनी कुछ उड़ाने दोबारा शुरू कर दी हैं. इन प्लेन्स में हॉस्पीटल ग्रेड के एयर फिल्टर्स लगाए गए हैं. हालांकि मास्क पहनने और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने के बाद कुछ मामले सामने आए हैं.



[ad_2]

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here