1.9 C
New York
Thursday, February 2, 2023

Buy now

spot_img

डीएम ने किया समीक्षा बैठक,दिए आवश्यक निर्देश

टास्क फोर्स के अधिकारियों द्वारा विद्यालयों का निरीक्षण न किए जाने पर जतायी नाराजगी

बस्ती – बेसिक शिक्षा परिषद के 506 में से 64 विद्यालयों की बाउंड्रीवाल का काम पूरा हो गया है। 394 विद्यालयों की बाउंड्रीवाल का कार्य चल रहा है। कलेक्टेªट में आयोजित जिला टास्क फोर्स की बैठक में जिलाधिकारी प्रियंका निरंजन ने समीक्षा में पाया कि 53 बाउंड्रीवाल विद्यालयों का कार्य भूमि विवाद अथवा भूमि न होने के कारण नही हो पा रहा है। जिलाधिकारी ने ब्लाक शिक्षा अधिकारियों को निर्देशित किया है कि इस संबंध में वे संबंधित एसडीएम से सम्पर्क कर शीघ्र कार्य शुरू कराये।
उन्होने यह भी निर्देश दिया है कि बाउंड्रीवाल विहीन अवशेष विद्यालयों की सूची भी उपलब्ध कराये। इसके लिए सभी ब्लाक शिक्षा अधिकारी स्वयं स्थलीय निरीक्षण करें। समीक्षा में उन्होने पाया कि बनकटी तथा सॉऊघाट में अवशेष सभी बाउंड्रीवाल का निर्माण चल रहा है। बस्ती सदर में बीईओ द्वारा बताया गया है कि 25 में से 08 पर कार्य चल रहा है परन्तु शेष 17 में ग्राम प्रधान द्वारा रूचि न लिए जाने के कारण कार्य शुरू नही हो पा रहा है।
प्राथमिक एवं उच्च प्राथमिक विद्यालयों के भवन/परिसर के ऊपर से जा रही बिजली विभाग की हाईटेंशन लाईन हटाने के लिए 170 विद्यालय चिन्हित किए गये है। जिलाधिकारी ने इस संबंध में चारों अधिशासी अभियंताओं को 15 दिन के भीतर तार हटाने का स्टीमेट प्रस्तुत करने का निर्देश दिया है।
कायाकल्प योजना के अन्तर्गत नगर पालिका/नगर पंचायत के 97 विद्यालयों में से 72 में क्लासरूम तथा फर्श पर टाइलिंग, 26 में टाइल्स, 15 में जलयुक्त ट्वायलेट, 14 में हैण्डवास यूनिट, 58 के किचनशेड, 46 में विद्युत कनेक्शन, 38 में बालको का यूरीनल, 12 में बालिकाओं का यूरीनल, 66 में फर्नीचर, 38 में टेपवाटर तथा 53 में बाउंड्रीवाल एवं गेट नही है। जिलाधिकारी ने सभी अधिशासी अधिकारियांे को नगर पंचायत/नगर पालिका निधि से यह कार्य पूर्ण कराने का निर्देश दिया है।
जिलाधिकारी ने कक्षा 01 से 08 तक प्राप्त निःशुल्क पाठ्यपुस्तक का सत्यापन करने के लिए सभी बीईओ को निर्देशित किया है। 1503422 के सापेक्ष कुल 456906 लगभग 30 प्रतिशत पुस्तके प्राप्त हुयी है और सभी का वितरण कर दिया गया है। डीआईओएस ने बताया कि माध्यमिक विद्यालयों में पुस्तके नही पहॅुचायी गयी है।
जिला एवं ब्लाक स्तरीय टास्क फोर्स के अधिकारियों द्वारा नियमित रूप से विद्यालयों का निरीक्षण न किए जाने पर नाराजगी व्यक्त किया है। समीक्षा में उन्होने पाया कि 03 एसआरजी के द्वारा 60 के सापेक्ष 43, 75 एआरपी के द्वारा 2250 के सापेक्ष 2045 तथा 14 डायट मेंटर द्वारा 140 के सापेक्ष 118 विद्यालयों का निरीक्षण किया गया है। जिलाधिकारी ने निर्देश दिया है कि ये लोग केवल निरीक्षण नही करेंगे बल्कि विद्यालय में जाकर कक्षा में पढायेंगे। उन्होने बीएसए को इसकी क्रासचेकिंग कराने का निर्देश दिया।
कस्तूरबा गॉधी बालिका विद्यालय में अवस्थापना संबंधी सुविधाओं की समीक्षा करते हुए जिलाधिकारी ने निर्देश दिया है कि पेयजल हेतु आर.ओ. तत्काल ठीक कराये, सोलर, गीजर लगवाये। बालिकाओं के लिए सेनेटरी पैड उपलब्ध कराने के लिए महिला कल्याण विभाग को नामित किया गया है परन्तु अभी तक इसे उपलब्ध नही कराया गया। इस पर जिलाधिकारी ने नाराजगी व्यक्त किया तथा सीएमओ को निर्देशित किया कि समय से इसकी उपलब्धता सुनिश्चित कराये।
समीक्षा में जिलाधिकारी ने पाया कि कुल 139644 छात्र-छात्राओं के यूनिफार्म, स्वेटर, जूता-मोजा, बैंग की धनराशि रू0 167572800 उनके अभिभावक के खाते में 31 जुलाई को प्रेषित कर दी गयी है। जिलाधिकारी ने निर्देश दिया है कि सभी बीईओ अभिभावको को प्रेरित करके छात्र-छात्राओ को उपलब्ध करवाये। बैठक का संचालन बेसिक शिक्षा अधिकारी इन्द्रजीत प्रजापति ने किया। इसमें डीडीओ अजीत श्रीवास्तव, प्रभारी सीएमओ डॉक्टर ए. के. गुप्ता, डीआईओएस डी.एस. यादव, प्राचार्य डायट, प्रधानाचार्या नीलम सिंह, अधिशासी अभियन्ता आरईडी अरविन्द कुमार, ईओ नगर पालिका दुर्गेश्वर त्रिपाठी उपस्थित रहें।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

0FansLike
3,695FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img

Latest Articles