जिले के उच्चाधिकारियों के निर्देश पर हुई है यह बड़ी कार्रवाई,पूर्व प्रधानों के कार्य कराए जाने के बाद भी नहीं हो रहा था भुगतान,डीपीआरओ के बार बार कहने के बावजूद भी नहीं किया था पंचायत सचिव ने भुगतान

प्रधान को सस्पेंशन की नोटिस जारी

जिला विकास अधिकारी ने किया निलंबन की कार्रवाई,भदैया ब्लॉक में किया अटैच

कार्रवाई के बाद जिले के मौजूदा प्रधानों /सचिव में मचा हड़कंप

सुल्तानपुर-,दुबेपुर विकासखंड के त्रिलोकपुर ग्राम पंचायत में पूर्व प्रधान द्वारा कार्यों को कराए जाने के बाद भी उनका भुगतान नहीं किया जा रहा था।लिहाजा इसकी शिकायत पूर्व प्रधान द्वारा जिले के उच्चाधिकारियों से गई थी।उसी कड़ी में डीपीआरओ आर के भारती द्वारा मामले की जांच की गई।डीपीआरओ ने मामले की जांच बाद भुगतान करने के लिए कहा।लेकिन पंचायत सचिव मनु गौड़ ने भुगतान नहीं किया।पूर्व प्रधान द्वारा आज डीपीआरओ कार्यालय पहुंच कर मामले की दोबारा से शिकायत की गई और भुगतान कराने के लिए अपील की तो डीपीआरओ ने मामले में तत्काल प्रभाव से संज्ञान लिया और त्रिलोकपुर ग्राम पंचायत पहुंच गए वही ग्राम प्रधान और पंचायत सचिव से वार्ता की और भुगतान करने के लिए आदेशित भी किया लेकिन भुगतान नहीं हुआ तो वही डीपीआरओ से वार्ता के दौरान डीपीआरओ ने बताया कि बार-बार पूर्व प्रधान की शिकायत मिल रही थी और उनके द्वारा कार्य कराए जाने के बावजूद पंचायत सचिवों और ग्राम प्रधान भुगतान नहीं कर रहे थे।इस मामले में कई बार मैंने खुद पंचायत सचिव से भुगतान करने के लिए पूर्व प्रधान को कहा था।लेकिन भुगतान पूर्व प्रधान ने नहीं किया।तब एक संयुक्त टीम डीपीआरओ के नेतृत्व में त्रिलोकपुर ग्राम पंचायत पहुंची और वहां के मौजूदा प्रधान के कार्यों का परीक्षण भी किया गया जांच के दौरान डीआरडीए दिनेश दूबे द्वारा इंटरलॉकिंग ईट को भी उठा लाया गया है! और उसका परीक्षण कराया जाएगा।तत्कालीन प्रधान सस्पेंशन को नोटिस देकर 1 सप्ताह के अंदर डीपीआरओ कार्यालय में जवाब दाखिल करने के लिए आदेशित किया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here