कॉन्सेप्ट इमेज.

कॉन्सेप्ट इमेज.

दक्षिण चीन सागर (South China Sea) में तनाव गहराता जा रहा है. ताइवान (Taiwan) के रक्षा मंत्रालय ने आगाह क‍िया है क‍ि चीन हमले और नाकेबंदी की तैयारी कर रहा है. इसके ल‍िए चीन अपनी सेना को लगातार आधुनिक बनाने में जुटा हुआ है.

ताइपे. ताइवान (Taiwan) ने चेतावनी दी है कि चीन (China) उसके ऊपर हमले और घेराबंदी करने की तैयारी कर रहा है. इसके लिए चीन लंबी दूरी तक मार करने वाली मिसाइलों की तैनाती कर रहा है ताकि युद्ध की सूरत में विदेशी सेनाएं उसकी मदद न कर सकें. ताइवान के रक्षा मंत्रालय ने कहा है कि चीन मनोवैज्ञानिक युद्ध चला रहा है जिससे लोगों का भरोसा ताइवान की सेना पर से कम हो जाए. हर 4 साल में एक बार की जाने वाली समीक्षा में ताइवान के रक्षा मंत्रालय ने चेतावनी दी कि चीन ‘ग्रे जोन वॉरफेयर’ रणनीति अपना रहा है ताकि ताइपे को अपने वश में किया जा सके. चीन की कोशिश है कि ताइवान स्‍ट्रेट में युद्धाभ्‍यास करके और हवाई क्षेत्र के उल्‍लंघन के जरिए ताइवान को झुकाया जा सके. ताइवान के रक्षा मंत्रालय ने कहा कि चीन लगातार अपनी सेना को आधुनिक बना रहा है और युद्ध के लिए अपनी क्षमता को बढ़ा रहा है.

चीन के रक्षा मंत्रालय ने ताइवान के इस बयान पर कोई टिप्‍पणी नहीं किया है. चीन का मानना है कि ताइवान उसका इलाका है और पिछले कुछ महीने में उसने अपनी सैन्‍य गतिविधियां तेज कर दी है. यही नहीं चीन ताइवान की मदद करने पर अमेरिका पर भी बहुत भड़का हुआ है. चीन की सेना दुनिया में सबसे बड़ी है और वह लगातार ताइवान को धमकाने में जुटा हुआ है.

ये भी पढ़ें: अमेरिका के साथ संबंध सुधारना चाहता है चीन, PM ली क्विंग बोले- मतभेदों को सुलझाना चाहिए

ताइवान ने बताया कि चीन उसके ठिकानों की नकल बना रहा है ताकि वह अपने सैनिकों को हमले का प्रशिक्षण दे सके. साथ ही ताइवान पर कब्‍जा करने का भी अभ्‍यास कर रहा है. ताइवान के रक्षा मंत्रालय ने कहा कि चीन के अंदर यह क्षमता है कि वह ताइवान के प्रमुख बंदरगाहों और समुद्री रास्‍तों को आंशिक रूप से बंद कर सकता है. इसके लिए चीन लंबी दूरी तक मार करने वाली मिसाइलें तैनात कर सकता है जो विदेशी सेनाओं को ताइवान की मदद करने से रोक देंगी. चीन के ड्रोन और फाइटर जेट ताइवान के हवाई क्षेत्र का लगातार उल्‍लंघन कर रहे हैं. ताइवान की वायुसेना को इसका सामना करना पड़ रहा है.








Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here