[ad_1]

यूपी पंचायत चुनाव में सिंबल नहीं देगी बीजेपी

यूपी पंचायत चुनाव में सिंबल नहीं देगी बीजेपी

UP Panchayat Election: पार्टी के समर्थित उम्मीदावर चुनावी मैदान में होंगे. यह जानकारी संसदीय कार्य और ग्राम्य विकास राज्यमंत्री आनंद स्वरूप शुक्ला ने दी. वे शनिवार को सुल्तानपुर दौरे पर पहुंचे थे.

  • News18Hindi

  • Last Updated:
    January 24, 2021, 7:49 AM IST

लखनऊ. उत्तर प्रदेश में होने वाले त्रिस्तरीय चुनाव (UP Panchayat Election 2021) को लेकर तैयारियां जोरो पर हैं. पंचायती राज विभाग के साथ ही राज्य निर्वाचन आयोग जल्द ही आरक्षण की लिस्ट जारी करने वाला है. इस बीच बीजेपी (BJP) ने यह स्पष्ट कर दिया है कि पंचायत चुनाव में  सिंबल पर प्रत्याशी नहीं उतारेगी. पार्टी के समर्थित उम्मीदावर चुनावी मैदान में होंगे. यह जानकारी संसदीय कार्य और ग्राम्य विकास राज्यमंत्री आनंद स्वरूप शुक्ला ने  दी. वे शनिवार को सुल्तानपुर दौरे पर पहुंचे थे.

पत्रकारों से बातचीत में मंत्री ने बताया कि 15 फ़रवरी तक प्रदेश में ग्राम पंचायतों की आरक्षण की स्थित स्पष्ट हो जाएगी। साथ ही उन्होंने कहा कि सर्कार पंचायत चुनाव अधिनियम में संशोधन को लेकर कोई विचार-विमर्श  नहीं चल रहा है. उन्होंने कहा कि पार्टी ग्रामीण विकास के लिए चलाई जा रही योजनाओं के बलबूते जीतकर गांव की सरकार बनाएगी। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण, मुख्यमंत्री आवास योजना, मनरेगा और राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन जैसी योजनाओं के सहारे जीतेगी.

बीडीसी चुनाव में पार्टी सिंबल दे सकती है पार्टी 

हालांकि बीजेपी की नजर ग्राम पंचायतों के साथ ब्लाक प्रमुख पद पर भी है. उत्तर प्रदेश में 826 ब्लॉक प्रमुख के पद हैं. ब्लॉक प्रमुख बनाने के लिए पार्टी क्षेत्र पंचायत सदस्य (BDC) के 75805 पदों के लिए भी समर्थित या फिर सीधे सिंबल पर प्रत्याशी उतार सकती है. जानकारी है कि पंचायत चुनाव में सफलता के लिए भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने निर्देश दिए हैं. उन्होंने सभी को गांव पंचायतों तक मजबूती से जाने को कहा है. ब्लाक प्रमुख चुनाव में भी सफलता के लिए बीडीसी चुनाव लड़ने के मुद्दे पर पार्टी की कोर कमेटी की बैठक में भी चर्चा हुई. भाजपा यदि बीडीसी चुनाव में जाती है, तो पार्टी के बूथ स्तर तक के कार्यकर्ताओं को चुनाव लड़ने का मौका मिल जाएगा. भाजपा के वरिष्ठ पदाधिकारियों के मुताबिक बीडीसी चुनाव में पार्टी जाए या नहीं, इस मुद्दे पर फैसला जल्द लिया जाएगा.






[ad_2]

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here