रंगदारी मामले में पेशी के बाद ज्ञानपुर के पूर्व विधायक विजय मिश्र ने कहा कि सरकार उनको फंसाना चाहती है। इसमें एडीजी प्रशांत कुमार, डीजी सुधीर कुमार, पूर्व भदोही एसपी की भूमिका है। 

मिर्जापुर कोर्ट के बाहर पूर्व विधायक विजय मिश्र

विस्तार

सरकार खून की प्यासी है। वह मेरे परिवार को फंसाना चाहती है। परिवार को खत्म किया जा रहा है। अभी एक एके-47 पकड़ी गई है। दो बाकी है जो एडीजी व डीजी के पास रखी है। यह बातें ज्ञानपुर के पूर्व बाहुबली विधायक विजय मिश्र ने शुक्रवार को कोर्ट में पेशी के दौरान कही। 

दुष्कर्म, रिश्तेदार की संपत्ति हड़पने सहित कई मामलों के आरोपी पूर्व विधायक विजय मिश्र के पुत्र विष्णु मिश्र की निशानदेही पर पुलिस ने गुरुवार को अमवां स्थित पेट्रोल पंप से एके-47, पिस्टल, कारतूस, मैग्जीन बरामद की थी। शुक्रवार को विजय मिश्र की प्रथम एसीजेएम कोर्ट में दो लाख की रंगदारी मामले में पेशी थी।

कोर्ट में पेशी से बाहर निकलने पर विजय मिश्र ने कहा कि सरकार उनको फंसाना चाहती है। इसमें एडीजी प्रशांत कुमार, डीजी सुधीर कुमार, पूर्व भदोही एसपी की भूमिका है। कहा कि मेरे पास तीन एके-47, कई पिस्टल व कारतूस होने का दावा किया जा रहा है। अभी एक बरामद कराया गया है। दो और मिलने की साजिश की जा सकती है।

मुख्तार अंसारी से संबंध पर बोले- 1998 के बाद से मुलाकात नहीं

बरामद एके-47

बरामद एके-47 –

विजय मिश्र ने कहा कि सरकार उन पर लगातार मुकदमे लाद रही है। जिस पेट्रोल पंप से एके-47 बरामद हुआ है वो छह महीने से बंद पड़ा है। फंसाने के बारे में कहा कि जो सरकार मालिक है, वही उनको फंसा रही है। मुख्तार अंसारी से संबंध के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि 1998 के बाद से उनसे कोई दुआ सलाम नहीं हुआ है। दावा किया कि  राजा भैया का मुख्तार से संबंध है। इस कारण ही मुख्तार ने उनका एफसीआई गोदाम बनवाया था।

पूरे घटना की सीबीआई जांच की मांग

मिर्जापुर कोर्ट के बाहर पूर्व विधायक विजय मिश्र

– विजय मिश्र ने कहा कि इस सरकार में ब्राह्मणों का उत्पीड़न हो रहा है। आरोप लगाया कि एडीजी ने दो करोड़ और पूर्व एसपी भदोही ने एक करोड़ मांगा था। नहीं देने पर फंसाया जा रहा है। मुख्यमंत्री ईमानदार हैं। पूरे घटना की सीबीआई जांच कराई जाए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here