डीएम ने सीएमओ को व्यवस्था बनाने का दिया निर्देश

सुल्तानपुर। आम जनमानस के साथ पैथोलॉजी व डायग्नोस्टिक सेंटरों द्वारा की जा रही अन्धाधुन्ध लूट के विरद्ध चमार महासभा ने मोर्चा खोल दिया है । उन्होंने आरोप लगाया कि जिले में मुख्यालय सहित छोटी बड़ी बाज़ारों में कुकुरमुत्तों की तरह पैथोलॉजी एवम डायग्नोस्टिक सेंटर खुले हैं। जहां जनमानस के साथ मनमानी लूट होती है। सभी जांच केंद्रों के अलग अलग रेट हैं। यही नहीं एक ही जांच केंद्र पर एक ही जांच के लिए लोगों से अलग अलग रकम ली जाती है। इन जांच केंद्रों द्वारा अपने सेन्टर के बाहर रेट लिस्ट नही लगाई जाती है। कोई आठ सौ रुपये में सोनोग्रॉफी कर रहा है तो कोई पांच सौ रुपये में कर रहा है। अगर कोई डॉक्टर विशेष सिफारिश कर दे तो उसकी सोनोग्रॉफी 4 सौ में ही हो जाती है।
चमार महासभा के अध्यक्ष विजय राणा चमार ने बुधवार 4 मई को जिलाधिकारी रवीश गुप्ता को पत्र देकर अवगत कराया है कि जिले में खुले पैथोलॉजी सेन्टरों के संचालको द्वारा मनमाने रेट पर मरीजो से धनादोहन किया जाता है। सभी जांच केंद्रों के अलग अलग रेट हैं। डॉक्टरों द्वारा जहां भेजा जाता है मरीजों को वहीं जाना पड़ता है। जिस सेंटर संचालक की डॉक्टरों की जितनी ज्यादा सेटिंग रहती है वह उतना ही ज्यादा पैसे वसूलता है।श्री राणा ने डीएम से मांग की है कि पैथोलॉजी एवम डायग्नोस्टिक सेन्टरों पर उनके यहां मिलने वाली सुविधाओं की रेट लिस्ट लगी होनी चाहिए। साथ ही जांच करने वाले डॉक्टर का नाम रजिस्ट्रेशन नंबर व मोबाइल नम्बर जांच केंद्र के सामने अंकित करवाया जाए। जिससे आम जनमानस को निर्धारित पैसे में स्वास्थ्य सुविधाएं मिल सके।
जिलाधिकारी रवीश गुप्ता ने मुख्य चिकित्साधिकारी को नियमानुसार व्यवस्था कराने का निर्देश दिया है। विजय राणा चमार ने इस मामले में सूबे के मुख्यमंत्री और प्रमुख सचिव स्वास्थ्य को भी पत्र भेजकर कार्यवाही की मांग किया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here