नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 5 अक्टूबर को आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस विषय पर आयोजित वैश्विक कार्यक्रम RAISE 2020 (Responsible Artificial Intelligence for Social Empowerment-2020) का उद्घाटन और संबोधित करेंगे. सूचना क्रांति के दौर में आर्टिफिशिय इंटेलिजेंस का महत्त्व लगातार बढ़ता जा रहा है. कृषि से लेकर फिन-टेक तक की बात हो या हेल्थकेयर से लेकर इंफ्रस्ट्रक्चर की बात हो भारत भी इस बदलते परिस्थितियों के अनुसार आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस को ना सिर्फ आत्मसात कर रहा है, बल्कि एक एआई हब के रूप में भी दुनियां में उभर रहा है.

RAISE 2020 के जरिए आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस क्षेत्र में भारत के बढ़ते कदम और सोशल ट्रांसफोर्मेशन में इसकी बढ़ती भूमिका के बारे में दुनियां जान सकेगी. आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस को लेकर भारत के फ्यूचर प्लानिंग को और धार देने के मकसद से यह कार्यक्रम काफी उपयोगी साबित होने वाला है.

विश्व की ये हस्तियां भी होंगी शामिल

5 से 9 अक्टूबर तक आयोजित होने वाले इस भव्य कार्यक्रम में दुनिया भर के कई नामचीन हस्तियां शिरकत कर अपने विचार रखेंगे. एमआईटी-यूएसए के कंप्यूटर साइंस और आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के निदेशक डेनियला रुस,गुगल रिसर्च इंडिया में सोशल गुड के लिए आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस में काम करने वाले मिलिंद तांबे, आईबीएम इंडिया और साउथ एशिया के एमडी संदीप पटेल, यूसी बार्कले के कंप्यूटर साइंटिस्ट डॉ. जोनाथन स्टुअर्ट रसेल, वर्ल्ड इकोनोमिक फोरम में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस पर काम करने वाली अरुणिमा सरकार इस कार्यक्रम में शिरक़त करेंगे और अपने विचार रखेंगे.इसके अलावा भारत सरकार के इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय और नीति आयोग भी वैश्विक वर्चुअल समिट का आयोजन करेंगे. कार्यक्रम में ट्राई चेयरमैन, एसबीआई बैंक के एमडी, मारूति इंडिया के असिस्टेंट वाईस प्रेसिडेंट भी शामिल होंगे. इसके साथ ही भारत सरकार के प्रिंसिपल साइंटिफिक एडवाइजर प्रो. विजय राघवन भी एक सत्र को संबोधित करेंगे. नेशनल हेल्थ अथॉरिटी, भारत सरकार के सीईओ इंदू भूषण भी सत्र को संबोधित करेंगे.

भारत के अलावा इस कार्यक्रम में ये देश होंगे शामिल

जून 2020 में भारत संस्थापक देश के रुप में RAISE 2020 से जुड़ा था. भारत के अलावा इस वैश्विक कार्यक्रम में यूके, यूएसए, ऑस्ट्रेलिया, कनाडा, फ्रांस, जर्मनी, इटली, मैक्सिको, जापान, न्यूजीलैंड, कोरिया और सिंगापुर शामिल होंगे. डेनियला रूस आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस पर वैश्विक साझेदारी के विजन पर अपना भाषण देंगे. वहीं माइक्रोसॉफ्ट के नेशनल टेक्नोलॉजी अधिकारी डॉ. रोहिणी श्रीवास्तव आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस पर काम कर रहे वर्क फोर्स के लिए कौशल विकास पर अपना विचार रखेंगी. साथ ही डॉ मिलिंद तांबे आर्टिफिशिलय इंटेलिजेंस के शोध पर भाषण देंगे.

RAISE 2020 कार्यक्रम में 35 हजार से अधिक स्टेकहोल्डर्स करेंगे शिरकत

कार्यक्रम की भव्यता इसी से आंकी जा सकती है कि दुनिया भर के 123 देशों के शैक्षणिक संस्थान, शोध और अनुसंधान उद्योग और सरकारी विभागों के 35,034 स्टेकहोल्डर्स ने पंजीकृत करा चुके हैं.

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here