टीएमसी ज्वॉइन करने के सवालों पर राजीब बनर्जी ने कहा कि मैं अभी भी बीजेपी में हूं. ANI

टीएमसी ज्वॉइन करने के सवालों पर राजीब बनर्जी ने कहा कि मैं अभी भी बीजेपी में हूं. ANI

BJP leader Rajib Banerjee: फेसबुक पर लिखी गई पोस्ट के बारे में राजीब बनर्जी से पूछा गया तो उन्होंने कहा, “मुझे जो सही लगा, मैंने लिखा. ये वो चीजें थीं, जो मुझे पसंद नहीं आईं और मैंने उनके बारे में लिखा.”

कोलकाता. मुकुल रॉय की बीजेपी से टीएमसी में वापसी के बाद बीजेपी नेता राजीब बनर्जी शनिवार को कोलकाता में तृणमूल कांग्रेस के राज्य सचिव कुणाल घोष के आवास पर मिलने पहुंचे. मुलाकात के बाद टीएमसी नेता कुणाल घोष ने राजीब बनर्जी के साथ मुलाकात को औपचारिक बताया. उधर, राजीब बनर्जी ने कहा कि मैं औपचारिक मुलाकात के लिए आया था, इसमें कोई राजनीति नहीं है. टीएमसी ज्वॉइन करने के सवालों पर राजीब बनर्जी ने कहा कि मैं अभी भी बीजेपी में हूं. फेसबुक पर लिखी गई पोस्ट के बारे में राजीब बनर्जी से पूछा गया तो उन्होंने कहा, “मुझे जो सही लगा, मैंने लिखा. ये वो चीजें थीं, जो मुझे पसंद नहीं आईं और मैंने उनके बारे में लिखा.”

उधर, मुकुल रॉय के टीएमसी में वापस लौटने के मामले पर प्रतिक्रिया देते हुए बीजेपी पश्चिम बंगाल के अध्यक्ष दिलीप घोष ने कहा कि वे लोग जो एक ऐसी पार्टी से आए थे, जहां कट मनी और सिंडिकेट का राज चलता है, उनके लिए बीजेपी में रहना मुश्किल है. उनके बीजेपी छोड़कर जाने से कोई असर नहीं पड़ेगा. पार्टी के लिए नो प्रॉफिट नो लॉस की स्थिति है. मुकुल रॉय के तृणमूल कांग्रेस में शामिल होने के पहले ही बीजेपी नेताओं ने तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की. बीजेपी के राज्य महासचिव सायंतन बोस ने कहा कि आठ जून को एक अनुशासनात्मक कार्रवाई समिति बनाई गयी है, जो कुछ नेताओं द्वारा सोशल मीडिया पर की गयी पार्टी विरोधी टिप्पणियों का संज्ञान लेगी.

ममता ने किया मुकुल का स्वागत

बता दें कि मुकुल रॉय ने शुक्रवार को बीजेपी को जोरदार झटका देते हुए अपने पुत्र शुभ्रांशु के साथ अपनी पुरानी पार्टी तृणमूल कांग्रेस में वापस ज्वॉइन कर ली. बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और राज्य की सत्ताधारी पार्टी के अन्य नेताओं ने वापसी पर उनका स्वागत किया. पार्टी में औपचारिक रूप से फिर से शामिल होने के पहले मुकुल रॉय ने तृणमूल भवन में ममता बनर्जी के साथ मुलाकात की.तृणमूल के संस्थापकों में शामिल रॉय ने कहा कि वह ‘सभी परिचित चेहरों को फिर से देखकर खुश हैं.’’ रॉय के पार्टी में शामिल होने के बाद तृणमूल सुप्रीमो ममता बनर्जी ने कहा कि रॉय को बीजेपी में धमकी दी गई थी और उन्हें प्रताड़ित किया गया, जिसका असर उनके स्वास्थ्य पर पड़ा. मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘मुकुल की वापसी साबित करती है कि बीजेपी किसी को भी चैन से नहीं रहने देती और सब पर अनुचित दबाव डालती है.’’

टीएमसी में क्रम तय

इस मौके पर आयोजित समारोह में रॉय मुख्यमंत्री के बायीं ओर बैठे थे और अभिषेक उनके बाद बैठे थे. वहीं, पार्टी के एक और वरिष्ठ नेता पार्थ चटर्जी मुख्यमंत्री के दाहिने ओर बैठे थे. तृणमूल सूत्रों के अनुसार, यह पार्टी के भविष्य के क्रम का संकेत था. ममता ने कहा, ‘‘उन्होंने (रॉय) जो भूमिका पहले निभाई, वह वही भूमिका निभाएंगे.’ उन्होंने कहा कि रॉय की वास्तविक भूमिका बाद में तय की जाएगी. उन्होंने हालांकि, यह भी कहा कि ‘पार्टी पहले से ही मजबूत है, हम शानदार जीत के साथ लौटे हैं.’

तृणमूल सुप्रीमो ने यह भी आरोप लगाया कि ‘बीजेपी आम लोगों की पार्टी नहीं है, वह जमींदारों की पार्टी है.’’ उन्होंने आरोप लगाया कि बीजेपी नीत केंद्र सरकार अपने विरोधियों को निशाना बनाने के लिए केंद्रीय जांच एजेंसियों का गलत तरीके से उपयोग करती है. दिलचस्प है कि ममता और रॉय दोनों ने दावा किया कि उनके बीच कभी भी कोई मतभेद नहीं था.





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here