[ad_1]

शर्मा ने पिछले दिनों बंगाल में भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा (Jp Nadda) के काफिल पर हुए हमले की निंदा की. (फाइल फोटो)

शर्मा ने पिछले दिनों बंगाल में भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा (Jp Nadda) के काफिल पर हुए हमले की निंदा की. (फाइल फोटो)

  • News18Hindi

  • Last Updated:
    December 20, 2020, 8:25 AM IST

मथुरा. उत्तर प्रदेश के ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा (Shrikant Sharma) ने शनिवार को पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) पर आरोप लगाया कि वह राज्य में तृणमूल कांग्रेस का जनाधार खिसकता देख वामपंथियों की ‘हिंसा की राजनीति’ के रास्ते पर जा रही हैं. शर्मा ने पिछले दिनों बंगाल में भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा (Jp Nadda) के काफिल पर हुए हमले की निंदा की.

उन्होंने पत्रकारों के एक समूह के साथ ऑनलाइन बैठक के दौरान आरोप लगाया, ‘ममता बनर्जी को पता है कि पश्चिम बंगाल में बतौर मुख्यमंत्री उनके चंद दिन बचे हुए हैं, इसलिए वह वामपंथियों की तरह हिंसा की राजनीति का सहारा ले रही हैं.’ इस बीच, तीन नए कृषि कानूनों के खिलाफ जारी किसान आंदोलन को लेकर शर्मा ने आरोप लगाया कि विभिन्न विपक्षी दल अपना जनाधार बढ़ाने के प्रयास के तहत किसानों को बरगलाने का काम कर रहे हैं.

तृणमूल कांग्रेस उन पर हमलावर हो गई है
बता दें कि श्रीकांत शर्मा का बयान ऐसे समय में सामने आया है जब मामता बनर्जी के साथ नेता एक-एकर पार्टी छोड़ रहे हैं. कल ही ममता बनर्जी के करीबी कहे जाने वाले दिग्गज नेता शुभेंदु अधिकारी नेबीजेपी का दामन थाम लिया. मिदनापुर में गृह मंत्री और भारतीय जनता पार्टी (BJP) के नेता अमित शाह की मौजूदगी में शुभेंदु अधिकारी ने भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो गए. उन्होंने हाल ही में तृणमूल कांग्रेस (TMC) से इस्तीफा दिया था. शुभेंदु अधिकारी के बीजेपी में शामिल होने बाद तृणमूल कांग्रेस उन पर हमलावर हो गई है.हम अब वायरस से मुक्त हो चुके हैं
पश्चिम बंगाल के पूर्व मंत्री मदन मित्रा (Madan Mitra) ने कहा, ‘मुझे बताया गया है कि शुभेंदु ने कहा कि तृणमूल कांग्रेस ने पिछले 10 सालों से कुछ नहीं किया. अगर टीएमसी ने कुछ नहीं किया है तो पिछले 10 साल से आप चुप क्यों थे? यह दुर्भाग्य की बात है. आज टीएमसी कार्यकर्ताओं के लिए एक उल्लास भरी शाम होगी क्योंकि हम अब वायरस से मुक्त हो चुके हैं.’



[ad_2]

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here