जिला विधिक सेवा प्राधिकरण ने जिला कारागार व वृद्धा आश्रम का किया निरीक्षण, गोष्ठी में विधिक साक्षरता की दी जानकारी

सुल्तानपुर । राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण के आदेश पर सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण शशि कुमार ने बुधवार को जिला कारागार व वृद्धा आश्रम का आकस्मिक निरीक्षण किया। तत्पश्चात बंदियों को जागरूक करने के लिए विधिक साक्षरता एवं जागरूकता गोष्ठी भी आयोजित कर उन्हें उनके अधिकारों व कर्तव्यों के बारे में बताया गया। निरीक्षण के दौरान सचिव ने साफ-सफाई व बंदियों को मिलने वाली सहूलियत के बारे में आदेश दिए।
सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण शशि कुमार ने अमहट स्थित जिला कारागार का निरीक्षण जेल के जेलर अपूर्व व्रत पाठक एवं डिप्टी जेलर के साथ किया । सचिव नें बेरेको में साफ सफाई व नालियों में चुना- फिनायल डाले जाने का निर्देश दिया। इस दौरान सचिव ने बंदियों के हाल-चाल भी जाने। निरीक्षण में बंदियों के तकलीफ व उनकी दवाओं की व्यवस्था के लिए जेल में तैनात चिकित्सक को निर्देश दिए। इसके अलावा कुछ बंदियों की जमानत के बाद भी रिहाई दाखिल न होने पर निजी मुचलके पर छोड़ने के लिए बंदियों से प्रार्थना पत्र लेकर न्यायालय भिजवाने का जिला कारागार के अधिकारियों को निर्देश दिया। निरीक्षण के बाद सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण शशि कुमार ने जेल में आयोजित विधिक साक्षरता एवं जागरूकता गोष्ठी में मौजूद बंदियों को उनके अधिकारों के बारे में जागरूक किया। निरीक्षण के दौरान जेल के चिकित्सक ,पैरा लीगल वालंटियर सतीश कुमार पांडेय भी मौजूद रहे। तत्पश्चात सचिव ने वृद्धा आश्रम का निरीक्षण किया । निरीक्षण के दौरान वृद्धा आश्रम में मौजूद महिला व पुरुष जनों के हालचाल जाने । इस दौरान वृद्धों के लिए बनने वाले खाना रसोई भंडार का निरीक्षण किया कर आवश्यक दिशा निर्देश दिए। यहां पर आयोजित विधिक साक्षरता एवं जागरूकता गोष्ठी में महिला व पुरुष वृद्ध जनों को उनके अधिकारों व अन्य के बारे में जानकारी दी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here