बरेली में प्रधान पद के प्रत्याशी की गाला रेतकर हत्या (सांकेतिक तस्वीर)

बरेली में प्रधान पद के प्रत्याशी की गाला रेतकर हत्या (सांकेतिक तस्वीर)

Bareilly Panchayat Chunav Violence: मतदान से पहले हुए इस खूनी संघर्ष में मृतक प्रधान प्रत्याशी के 6 समर्थकों को भी गोली मारी गई है, जिन्हे गंभीर हालत में इलाज के लिए अस्पताल भेजा गया है.

बरेली, उत्तर प्रदेश के त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव (UP Panchayat Chunav 2021) के दूसरे चरण के लिए जहां एक ओर प्रदेश के 20 जिलों में मतदान चल रहा है, वहीं बरेली जनपद में दबंगों ने एक प्रधान प्रत्याशी के पति (Pradhan Candidate) की गाला रेतकर हत्या (Murder) कर दी. मतदान से पहले हुए इस खूनी संघर्ष में मृतक प्रधान प्रत्याशी के 6 समर्थकों को भी गोली मारी गई है, जिन्‍हें गंभीर हालत में इलाज के लिए अस्पताल भेजा गया है. मामला भोजीपुरा थाना क्षेत्र के बिबियापुर गांव का है. जानकारी के मुताबिक, चुनाव में हार-जीत को लेकर प्रधान पद के उम्मीदवारों में यह खुनी संघर्ष हुआ.

जानकारी के मुताबिक, दबंगों ने प्रधान पद के उम्मीदवार के पति नरेंद्र की गला रेतकर हत्या की वारदात को अंजाम दिया. चुनाव में हार-जीत को लेकर चल रही बहस के बाद प्रधान पद के उम्मीदवारों में खूनी संघर्ष हो गया. इस संघर्ष में दबंगों ने नरेंद्र के आधा दर्जन समर्थकों को गोली भी मारी. घायलों को निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है. वहीं, सूचना पर पहुंची पुलिस ने मृतक नरेंद्र के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया है और मामले की तफ्तीश में जुटी हैं.

काफी दिनों से चल रही थी तनातनी
दरअसल, बरेली निवासी नरेंद्र गंगवार पिछले कई वर्षों से बिबियापुर गांव के प्रधान रहे हैं. इस बार ग्राम प्रधान पद की सीट महिला होने के कारण नरेंद्र की पत्नी प्रधान पद की उम्मीदवार थी, लेकिन गांव के कुछ लोग भी नरेंद्र की पत्नी के सामने चुनाव लड़ रहे थे, जिनको यह बात बिलकुल गवारा नहीं थी कि नरेंद्र के परिजन इस बार चुनाव लड़े. इसी बात को लेकर पिछले कई दिनों से गांव में तनातनी का माहौल था. दूसरे पक्ष के लोगों ने नरेंद्र के परिजनों को कई बार धमकियां दी,  इतना ही नहीं कई बार मारपीट तक हुई. इसकी सूचना नरेंद्र के परिजनों ने पुलिस प्रशासन को दी लेकिन पुलिस की तरफ से कोई मदद न होने के कारण नरेंद्र पक्ष कमजोर पड़ गया.पुलिस पर लगे ये आरोप

नरेंद्र के परिजनों का कहना है कि पुलिस दूसरे पक्ष से मिली हुई थी. जब भी हम लोगों ने दूसरे पक्ष की  शिकायत पुलिस से की तो उन्होंने उल्टा हम लोगों को ही धमका दिया। अभी तीन दिन पहले भी दूसरे पक्ष के लोगों ने नरेंद्र के साथ मारपीट कर 50 हजार लूट लिए. बावजूद पुलिस ने कोई कार्यवाई नही की. घटना के बाद पुलिस अफसरों का कहना है कि चुनावी रंजिश को लेकर दो पक्षों में मारपीट और फायरिंग हुई है. कुछ लोगों ने प्रधान पद के उम्मीदवार के समर्थकों को गोली मार दी है, जिनको निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है. उनका इलाज चल रहा है.  उसके अलावा नरेंद्र नामक युवक की भी धारदार हथियार से हत्या कर दी गई है. पुलिस ने मौके पर पहुंचकर नरेंद्र के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा दिया। परिजनों की तहरीर पर एफआईआर दर्ज कर दोषियों पर सख्त कार्रवाई की जाएगी।

घटना के बाद से पीड़ित परिजनों का रो- रोकर बुरा हाल है लेकिन इस घटना से एक बार फिर यह साफ जाहिर हो रहा है कि भोजीपुरा थाना पुलिस अगर नरेंद्र के परिजनों की शिकायत को गंभीरता से लेती तो शायद आज गांव के दंबग लोग नरेंद्र की हत्या न कर पाते।









Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here