लखनऊ

बोले- बिल नहीं भरने पर तुरंत लाइट काटना ठीक नहीं

बिजली विभाग के अधिकारियों संग बैठक के दौरान

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि बिजली भुगतान नहीं करने पर

तुरंत बिजली सप्लाई काट देना समाधान नहीं हो सकता है

ग्रामीण इलाकों में थी बहुत सिकायते बिजली कटौती की

सीएम योगी बोले- शहरों में स्मॉर्ट मीटर लगाए जाएं

उत्तर प्रदेश में 24 घंटे बिजली देने का वादा करने वाली योगी सरकार

अब एक बार फिर अपने मिशन में पूरी ताकत के साथ जुट गई है.

लोक भवन में विद्युत विभाग के अधिकारियों से बात करते हुए

सीएम योगी आदित्यनाथ ने इस कड़ी में सख्त निर्देश दिए हैं.

उनकी तरफ से जोर देकर कहा गया है कि राज्य में 24 घंटे बिजली देना प्राथमिकता होना चाहिए.

वहीं अगर कही पर ट्रांसफॉर्मर में दिक्कत हो या फिर बिजली का तार कट जाए,

उन परिस्थितियों में भी तुरंत समाधान की ओर जोर दिया जाए

सीएम ने कहा कि गर्मी के मौसम में सबसे ज्यादा बिजली की आवश्यकता पड़ती है

ऐसे में बिना रुके बिजली सप्लाई मिलती रहे

राज्य में बिजली बिल भुगतान को लेकर भी लगातार समस्या देखने को मिल रही है

अधिकारियों से बात करते समय सीएम द्वारा इस बारे में भी विस्तार से चर्चा की गई.

उन्होंने कहा कि बिल भुगतान नहीं करने पर तुरंत बिजली काट देना कोई समाधान नहीं है.

आप लोगों को ग्राहक से संवाद स्थापित करना चाहिए.

उन्हें बिल भुगतान के लिए प्रोत्साहित करना चाहिए.

उनकी तरफ से इस बात पर भी जोर दिया गया कि बिल जमा करने की प्रक्रिया को ज्यादा प्रभावशाली बनाया जाए.

बिल कलेक्शन में महिलाओं का भी सहयोग लिया जाए.

सीएम योगी ने बैठक के दौरान इस बात पर नाराजगी भी जाहिर की कि कई बार ग्राहकों के पास गलत बिजली बिल पहुंच जाता है.

उन्होंने अधिकारियों से दो टूक कहा कि ऐसी शिकायतें नहीं आनी चाहिए

मीटिंग में कोयले के उत्पादन को लेकर भी बातचीत की गई.

मुख्यमंत्री ने साफ कर दिया बिजली उत्पादन के दौरान

कोयले की कमी कभी नहीं रहनी चाहिए

इस सिलसिले में केंद्र से लगातार बात की जाए.

इसी वजह से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा इस बैठक को रखा गया

मीटिंग में बिजली मंत्री एके शर्मा भी शामिल हुए थे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here