लोकसभा चुनाव में किया था प्रचार.

लोकसभा चुनाव में किया था प्रचार.

बीजेपी की पश्चिम बंगाल इकाई के अध्‍यक्ष दिलीप घोष ने लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान ट्विटर पर रानाघाट में बीजेपी का प्रचार करते निभास की फोटो डाली थी, जिसके बाद वह सोशल मीडिया पर खासे लोकप्रिय हो गए थे.

  • News18Hindi

  • Last Updated:
    October 5, 2019, 11:04 AM IST

नई दिल्‍ली. बीजेपी (bjp) के स्‍टार प्रचारक निभास सरकार (Nibahsh sarkar) ने गुरुवार दोपहर को नादिया जिले के रानाघाट में आत्‍महत्‍या कर ली. 2019 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी के लिए प्रचार करने के दौरान भगवान हनुमान के रूप में उनकी तस्‍वीरें सामने आई थीं. निभास सरकार राष्‍ट्रीय स्‍वयंसेवक संघ (आरएसएस) के कार्यकर्ता और जात्रा आर्टिस्‍ट भी थे. बीजेपी की पश्चिम बंगाल इकाई के अध्‍यक्ष दिलीप घोष ने लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान ट्विटर पर रानाघाट में बीजेपी का प्रचार करते निभास की फोटो डाली थी, जिसके बाद वह सोशल मीडिया पर खासे लोकप्रिय हो गए थे.

घर पर किया सुसाइड
बागुला के मंडल सभापति तपस घोष को निभास सरकार के भाई के जरिये उनकी मौत का पता चला. तपस घोष बताते हैं, ‘गुरुवार दोपहर को निभास घर पर बाथरूम गए थे. इसके कुछ मिनट बाद वह हाथ में एक शीशी लेकर निकले और अपने भाई प्रलब से कहा कि उन्‍होंने जहर खा लिया है. क्‍योंकि वह अपने जीवन से दुखी हो गए हैं.’ इसके बाद उन्‍हें कृष्‍णानगर स्थित अस्‍पताल ले जाया जा रहा था, लेकिन रास्‍ते में ही उनकी मौत हो गई. घोष के अनुसार यह पारिवारिक मामला है. निभास के बेटे उदयपुर में डॉक्‍टर हैं.

सुसाइड के पीछे एनआरसी को वजह मानने से इनकारनिभास सरकार पश्चिम बंगाल के रानाघाट के रहने वाले थे, लेकिन अपने परिवार के साथ राजस्‍थान के उदयपुर में शिफ्ट हो गए थे. निभास के सुसाइड कर लेने के बाद सोशल मीडिया पर इस बात की चर्चा होने लगी कि उन्‍होंने एनआरसी के मामले पर सुसाइड किया है, लेकिन उनके भाई प्रलब ने साफ कहा है कि ऐसा कुछ नहीं है.

सांसद जगन्‍नाथ के लिए किया था प्रचार
निभास सरकार ने 2019 के लोकसभा चुनाव के दौरान रानाघाट में बीजेपी के मौजूदा सांसद जगन्‍नाथ सरकार के लिए चुनाव प्रचार किया था. निभास की मौत पर जगन्‍नाथ सरकार ने शोक प्रकट किया है और उन्‍हें बड़ा बीजेपी समर्थक बताया. उन्‍होंने कहा कि हम दोनों एक-दूसरे को काफी अच्‍छे से जानते थे. उन्‍होंने मेरे लिए भगवान हनुमान बनकर चुनाव प्रचार किया था. य‍ह सिर्फ एक अफवाह है कि उन्‍होंने एनआरसी मामले में सुसाइड किया है. दिलीप घोष ने भी इस बात से इनकार किया है.

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here