मुंबई. कोरोना वायरस (Coronavirus) की दूसरी लहर से उबरते हुए महाराष्ट्र में फिर मामलों में इजाफा देखा गया है. बीते बुधवार को राज्य में संक्रमण के 10 हजार से ज्यादा मामले दर्ज किए गए. वहीं, मुंबई में भी बीते दो दिनों की तुलना में करीब 50 फीसदी बढ़त हुई है. इधर, राज्य के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) तीसरी लहर की तैयारियों में जुट गए हैं. हाल ही में उन्होंने राज्य के अधिकारियों और डॉक्टर्स के साथ बैठक की थी.

राज्य में बीते दो दिनों से मरीजों की संख्या 10 हजार के अंदर थी. जबकि, बुधवार को कुल 10 हजार 107 मरीज मिले. मुंबई में बुधवार को बीते 11 दिनों में सबसे ज्यादा 821 मामले मिले. इससे पहले 5 जून को 863 मरीज मिले थे. वहीं, शहर में सोमवार को 572 कोविड के मरीज मिले थे. मंगलवार को यह आंकड़ा 530 पर था. बुधवार के आंकड़े मिलाकर राज्य में अब तक कुल 59.3 लाख और मुंबई में 7.1 लाख मरीज मिल चुके हैं.

गिर रहे हैं मौतों के आंकड़े

राज्य में रोज हो रही मौत की संख्या में गिरावट हुई है. बुधवार को 237 मरीजों की जान गई. जबकि, मंगलवार को 388 मरीजों की मौत हो गई थी. बीते एक हफ्ते से मुंबई में भी मौत के मामले कम हो रहे हैं. बुधवार को कुल 11 लोगों ने जान गंवाई. टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक, बीते पांच दिनों में मौत के मामले 20 से कम रहे हैं.बीएमसी अधिकारियों का मानना है कि शहर में गंभीर मरीजों की संख्या कम होने के साथ मौत के आंकड़े भी कम होंगे. अच्छी खबर है कि राज्य में रिकवरी रेट लगातार बढ़ रहा है. बुधवार को 10 हजार 567 मरीज स्वस्थ हुए और रिकवरी रेट 96 फीसदी पर पहुंच गया. राज्य में एक्टिव केस कम होकर 1.3 लाख पर गए हैं. मुंबई में 17 हजार 782 मरीज इलाज करा रहे हैं.

यह भी पढ़ें: कोरोना की तीसरी लहर से निपटने की तैयारियां शुरू, उद्धव ठाकरे बोले- सेकेंड वेव ने बहुत सिखाया

टीओआई की एक रिपोर्ट में एक अधिकारी के हवाले से बताया गया, ‘राज्य में करीब 6 जलों में पॉजिटिविटी रेट 15 फीसदी से ज्यादा है और ध्यान इन जगहों पर कंटेनमेंट उपायों को सुनिश्चित करने पर है. इन जिलों को दोगुनी टेस्टिंग और हाई-रिस्क कॉन्टेक्ट की सही ट्रेसिंग सुनिश्चित करने के लिए कहा गया है.’

तीसरी लहर से निपटने उद्धव सरकार तैयार

मुख्यमंत्री ठाकरे ने बुधवार को एक बैठक की. उन्होंने अधिकारियों से संभावित तीसरी लहर के लिए पर्याप्त मेडिकल सप्लाई रखने के निर्देश दिए हैं. इस बैठक में राज्य के कोविड टास्क फोर्स के अधिकारी और डॉक्टर्स शामिल थे. सीएम ठाकरे ने इस दौरान ग्रामीण इलाकों में दवाओं की व्यवस्थाओं पर भी जोर दिया है. सीएम ने पिछली लहरों से सीख लेने की बात पर जोर दिया.

उन्होंने कहा कि पहली लहर में राज्य पर्याप्त सुविधाएं नहीं थी, लेकिन बाद में सुविधाएं विकसित होने के बाद हाल बेहतर हुए थे. दूसरी लहर ने हमें बहुत सिखाया. उन्होंने कहा, ‘यह लहर अब हट रही है और इससे अनुभव लेकर हमें यह सुनिश्चित करना होगा कि दवाओं, स्वासथ्य सुविधाओं, बिस्तरों और ऑक्सीजन उपलब्ध हो. इसे प्राथमिकता से लिया जाना चाहिए.’

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here