शाकिब अल हसन ने गुस्से में स्टंप्स हाथ से उखाड़कर फेंक दिए थे. (Video Grab/Twitter)

शाकिब अल हसन ने गुस्से में स्टंप्स हाथ से उखाड़कर फेंक दिए थे. (Video Grab/Twitter)

दिग्गज क्रिकेटरों में शुमार शाकिब अल हसन (Shakib Al Hasan) ने मैदान पर अपने खराब आचरण के लिए फेसबुक पोस्ट में माफी मांगी थी लेकिन सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल होने के बाद फैंस ने उन पर बैन लगाने की मांग की. उन्हें 5 लाख टका (करीब 4.2 लाख रुपये) का जुर्माना भी देना होगा.

नई दिल्ली. स्टार क्रिकेटर शाकिब अल हसन (Shakib Al Hasan) को ढाका प्रीमियर लीग (DPL 2021) के तीन मैचों के लिए सस्पेंड कर दिया गया है. बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड (BCB) ने शनिवार को उन्हें निलंबित करने की घोषणा की. अंपायर की ओर से एलबीडब्ल्यू कॉल पर इनकार करने के बाद शाकिब पूरी तरह से अपना आपा खो बैठे और गुस्से में स्टंप्स को लात मारी. उन्होंने बाद में स्टंप्स को हाथ से उखाड़कर फेंक दिया.

क्रिकइन्फो की एक रिपोर्ट के मुताबिक, शाकिब पर बैन के अलावा 5 लाख टका (करीब 4.2 लाख रुपये) का जुर्माना भी लगाया गया है. उन्हें 11 जून को अबाहनी लिमिटेड और मोहम्मडन स्पोर्टिंग क्लब के बीच ढाका प्रीमियर लीग टी20 मैच के दौरान अंपायरों, ग्राउंडस्टाफ से बदतमीजी और उपकरणों के दुरुपयोग का दोषी पाया गया. यह बीसीबी की आचार संहिता के तहत लेवल-3 का अपराध है और शाकिब ने सजा को स्वीकार कर लिया है.

शाकिब की कप्तानी वाली टीम मोहम्मडन ने 31 रन (डीएलएस नियम) से इस मैच को जीता. हालांकि शाकिब ने अपने खराब आचरण के लिए फेसबुक पोस्ट में माफी भी मांगी थी लेकिन सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल होने के बाद फैंस ने उन पर बैन लगाने की मांग की. उन्होंने मैदान पर सारी हदें पार कर दीं. वह दो बार अंपायर से भिड़ गए. उन्होंने स्टंप्स को लात मारी और अपने हाथों से उन्हें उखाड़ भी दिया. वह अधिकारियों पर भी भड़क गए और तीखी बहस करते देखे गए थे.इसे भी पढ़ें, शाकिब के कान खींचती दिखीं शेख हसीना, सहवाग ने तस्वीर शेयर कर जताई निराशा

इस बीच मोहम्मडन स्पोर्टिंग क्लब क्रिकेट समिति के अध्यक्ष मसूदुज्जमां ने कहा कि इस बात का भी पता लगाना चाहिए कि आखिर शाकिब ने ऐसा क्यों किया. मसूदुज्जमां ने क्रिकबज से कहा, ‘हम बीसीबी से अपील करेंगे ताकि वे यह पता लगा सके कि शाकिब जैसे अनुभवी खिलाड़ी ने इस तरह का व्यवहार क्यों किया. अधिकारियों से कहेंगे कि वे इस मामले की जांच करें और देखें कि शाकिब को ऐसा कदम उठाने के लिए उकसाया क्यों गया. स्वाभाविक रूप से, यह स्वीकार्य नहीं था लेकिन साथ ही हमें यह पता लगाना होगा कि ऐसा क्यों हुआ.’









Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here