[ad_1]

उत्त प्रदेश में 2021 में हाई स्कूल और इंटर मीडिएट स्कूल की परीक्षा के लिए 8497परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं.

उत्त प्रदेश में 2021 में हाई स्कूल और इंटर मीडिएट स्कूल की परीक्षा के लिए 8497परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं.

यूपी बोर्ड ने इस साल कोरोना संक्रमण को देखते हुये उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में हाईस्कूल (High School) और इंरमीडिएट परीक्षा- 2021 के लिए 8497 परीक्षा केंद्र (Exam Center) बनाए गये हैं. कोरोना (Corona) संक्रमण को देखते हुए इस बार 714 परीक्षा केंद्र बढ़ाए गये हैं.

  • News18Hindi

  • Last Updated:
    January 28, 2021, 12:31 AM IST

इलाहाबाद. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में हाईस्कूल (High School) और इंरमीडिएट परीक्षा- 2021 (Intermediate Exam) के लिये 8497 परीक्षा केंद्र (Exam Center) बनाए गये हैं. कोरोना (Corona) संक्रमण को देखते हुए इस बार 714 परीक्षा केंद्र बढ़े हैं, ताकि परीक्षार्थियों को परीक्षा देने में कोई परेशानी न हो. कोरोना संक्रमण के कारण सोशल डिस्टेंसिंग (Social Distancing) को मेंटेन करने के चलते परीक्षा के लिए ज्यादा सीटों और जगह की जरूरत पड़ रही है. इसको ध्यान में रखते हुए यूपी बोर्ड(UP Board) ने परीक्षा केंद्रों की संख्या बढ़ा दी है. यूपी बोर्ड के सचिव दिव्यकांत शुक्ल ने मीडिया को इसके बारे में जानकारी दी है.

इसके साथ ही उत्तर प्रदेश में हाई स्कूल और इंटर की परीक्षा को नकल विहीन संपन्न कराने के लिए उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद (यूपी बोर्ड) ने काम शुरू कर दिया है. बोर्ड ने 2021 की हाईस्कूल और इंटरमीडिएट परीक्षा के लिए 312 स्कूलों को डिबार किया है. इसमें 51 स्कूल ऐसे हैं, जिनमें अनियमितता की गंभीर शिकायत मिली थी. यूपी बोर्ड ने इन स्कूलों को हमेशा के लिए प्रतिबंधित कर दिया है.

UP Panchayat Chunav: आरक्षण लिस्‍ट में देरी से लटक सकते हैं पंचायत चुनाव, जानिए कब तक स्थिति होगी साफ

यूपी बोर्ड ने पिछले साल 2020 में 433 स्कूलों को काली सूची में रखा था, जो स्कूल डिबार किये गए हैं उनमें पिछली परीक्षाओं में सामूहिक नकल, कापी, पेपर बदलने सहित तमाम अनियमितताएं मिलीं थीं. यूपी बोर्ड ने अबकी बार सबसे अधिक अलीगढ़ के 60 स्कूल डिबार किए गए हैं. इसके अलावा फीरोजाबाद के 24, प्रयागराज के 17, प्रतापगढ़ के 14, मथुरा के 11, आगरा व गोरखपुर के 10-10 स्कूलों को केंद्र निर्धारण प्रक्रिया से बाहर किया गया है. इसके अलावा कई अन्य जिलों के स्कूलों को भी डिबार करके उसमें परीक्षा न कराने का निर्णय लिया गया है.






[ad_2]

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here