[ad_1]

लखनऊ. उत्तर प्रदेश पुलिस औऱ एसटीएफी (STF) की टीम ने लखनऊ से पीएफआई (PFI) के दो सदस्यों को गिरफ्तार  किया है. उनके पास से भारी मात्रा में विस्फोटक (Explosives) सामान और हथियार भी बरामद किए गए हैं. पुलिस का मानना है कि दोनों आरोपी बड़ी साजिश को अंजाम देने के फिराक में थे. एडीजी लॉ एंड ऑर्डर प्रशांत कुमार (Prashant Kumar) ने प्रेसवार्ता के जरिए दोनों पीएफआई सदस्यों के गिरफ्तारी के बारे में जानकारी दी. एडीजी ने कहा कि मंगलवार को STF उत्तर प्रदेश की टीम ने 2 लोगों को गिरफ्तार किया है. इनके पास भारी मात्रा में विस्फोटक, हथियार और कुछ दस्तावेज बरामद किए गए हैं. गिरफ्तार किए गए लोगों का संबंध PFI (पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया) नामक आतंकी संगठन से है.

एडीजी लॉ एंड ऑर्डर प्रशांत कुमार का कहना है कि इनकी योजना बसंत पंचमी के आसपास कई जगह कार्यक्रमों में धमाका कर कई वरिष्ठ अधिकारियों और आम जनता में आतंक फैलाना था.  पिछले लगभग 1 साल में इस संगठन के 123 लोगों को हमने गिरफ्तार किया है. केरल के अंसाद बदरुद्दीन और फिरोज खान पीएफआई के दो सदस्य हैं जिन्हें यूपी एसटीएफ ने गिरफ्तार किया है.

संगठन विस्तार की कोशिश में था पीएफआई

एडीजी लॉ एंड ऑर्डर प्रशांत कुमार ने कहा कि पीएफआई संगठन बुद्धिजीवियों को दिग्भ्रमित कर रहा है. नई दिल्ली हिंसा में भी इस संगठन की भूमिका हो सकती है. ये संगठन छोटे-छोटे ग्रुप बनाकर ट्रेनिंग दे रहा है. कल पीएफआई के स्थापना दिवस को लेकर अलर्ट है. इनके 123 लोगों को पिछले साल में हमने गिरफ्तार किया है.

एडीजी एलओ ने कहा कि वसंत पंचमी पर हिंदू संगठनों के कार्यक्रम में विस्फोट की तैयारी थी. पीएफआई वर्ग विशेष के युवकों को देश के खिलाफ तैयार कर रही है. गिरफ्तार बदरुद्दीन और फिरोज खान से विस्फोटक बरामद किए गए है. उच्च क्षमता के 16 विस्फोटक डिवाइस ,बैट्री, डेटोनेटर और लाल रंग के तार बरामद हुए है. आरोपियों से 32 बोर की एक पिस्टल,7 जिंदा कारतूस बरामद हुआ है.



[ad_2]

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here