(सुल्तानपुर) जिला जज संतोष राय की अध्यक्षता में राष्ट्रीय लोक अदालत सकुशल संपन्न हुआ ।अतिरिक्त समस्त पीठासीन अधिकारियों ने अपने-अपने न्यायालय में वादों का निस्तारण किया।विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव शशि कुमार ने बताया कि राष्ट्रीय लोक अदालत में जिला जज द्वारा तीन वाद, इसके अतिरिक्त परिवार न्यायालय के प्रधान न्यायाधीश उत्कर्ष चतुर्वेदी एवं अपर प्रधान न्यायाधीश पुष्पा सिंह ,प्रतिभा नारायण द्वारा कुल 61 वैवाहिक वादों का निस्तारण किया गया। चेयरमैन मोटर दुर्घटना दावा न्यायाधिकरण राकेश कुमार त्रिपाठी
द्वारा 30 वाद निस्तारित किया ।अपर जनपद न्यायाधीश इंतेखाब आलम द्वारा तीन मामले, नवनीत गिरी द्वारा चार वाद,पवन कुमार शर्मा द्वारा दो वाद, अभय श्रीवास्तव द्वारा चार वाद, राजेश नारायण मणि त्रिपाठी द्वारा 51 वाद,प्रदीप कुमार जैन द्वारा 15 बाद, अंकुर शर्मा द्वारा एक वाद,कल्पराज सिंह द्वारा चार वाद, नीलिमा सिंह द्वारा एक वाद ।विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव शशि कुमार ने बताया कि इसके अतिरिक्त बैंकों से संबंधित 1729 प्रीलिटिगेशन वादों का निस्तारण कराया गया जिसमें बैंकों में ऋण संबंधी 8आठ करोड़ 34 लाख 93 हजार 888 ₹ का समझौता किया गया तथा वैवाहिक संबंधित 36 वादों का सुलह समझौता के आधार पर निस्तारण किया गया । मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट किरण गौड़ द्वारा 1064 वाद, सिविल जज प्रवर सपना त्रिपाठी द्वारा 46 वाद,अपर मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट योगेश कुमार यादव द्वारा 704 वाद, सईमा जर्रार आलम द्वारा 701, सिविल जज प्रबर खंड एफटीसी छितिज पांडेय द्वारा 12 वाद, सिविल जज अवर खंड दक्षिणी आशालिका पांडेय द्वारा 37 वाद, न्यायिक मजिस्ट्रेट कक्ष संख्या 23 दीपांकर यादव द्वारा 608 वाद ,सिविल जज अवर खंड मुसाफिरखाना सिद्धार्थ वर्मा द्वारा 113 वाद, सिविल जज अवर खंड उत्तरी श्रद्धा लाल द्वारा 19 वाद, न्यायिक मजिस्ट्रेट कक्ष संख्या 31 देवर्षिदेव कुमार द्वारा 641 वाद, सिविल जज कादीपुर अविनाश रंजन द्वारा 85 वाद, विशेष न्यायिक मजिस्ट्रेट 138 एन आई एक्ट अरुण कुमार श्रीवास्तव द्वारा 38 वाद का निस्तारण किया गया ।विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव शशि कुमार ने बताया कि इसके अतिरिक्त जिलाधिकारी सुल्तानपुर एवं इनके अधीन कार्यरत समस्त पीठासीन अधिकारियों द्वारा 16226 वाद तथा जिला अधिकारी अमेठी एवं उनके अधीन कार्यरत समस्त अधिकारियों द्वारा 7461 वाद निस्तारित किए गए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here