[ad_1]

मोनिका सेलेस टेनिस खिलाड़ी रही हैं

मोनिका सेलेस टेनिस खिलाड़ी रही हैं

मोनिका सेलेस (Monica Seles) टेनिस खिलाड़ी थीं जिन्होंने 16 साल की उम्र में ही फ्रेंच ओपन जीत लिया था.

नई दिल्ली. आज से 28 साल पहले टेनिस के जगत में कुछ ऐसा हुआ जिसने पूरी दुनिया को  हिला कर रख दिया. टेनिस कोर्ट पर एक ऐसी घटना हुई जिसके बारे में कोई सोच भी नहीं सकता था. उस दौर की उभरती हुई टेनिस खिलाड़ी मोनिका सेलेस (Monica Seles) पर लाइव मैच के दौरान एक शख्स ने चाकू से हमला कर दिया. इस घटना ने मोनिका की जिंदगी ही नहीं बल्कि पूरे महिला टेनिस को ही बदल दिया. लाइव मैच के दौरान हुआ मोनिका पर हमला मोनिका ने 14 साल की उम्र में अंतरराष्ट्रीय करियर की शुरुआत की औऱ 16 साल की उम्र में पहले ग्रैंड स्लैम के तौर पर फ्रेंच ओपन (French Open) जीता था. उन्होंने कम ही उम्र में काफी शोहरत हासिल की. 19 साल की उम्र तक वह 21 सिंगल्स खिताब जीत चुकी थीं जिसमें 8 ग्रैंड स्लैम शामिल हैं. इसके अलावा 1991, 1992 और 1995 में वो नंबर एक महिला टेनिस खिलाड़ी रहीं. इसके बाद आया 30 अप्रैल 1993 का दिन. मोनिका जर्मनी के हैमबर्ग शहर में हो रहे सिटिजन कप हिस्सा ले रही थी. मैच के दूसरे सेट में मोनिका 4-3 से आगे थीं. तभी आराम के लिए ब्रेक दिया गया. मोनिका अपनी कुर्सी पर आकर बैठीं. तभी गुंतेर पार्श नाम के एक शख्स ने मोनिका की पीठ पर तेज धारदार चाकू से हमला कर दिया. इससे पहले की वह दूसरा हमला करता उसे पकड़ लिया गया. कोर्ट पर मौजूद चिकित्सक उन्हें तुरंत स्ट्रेचर पर लिटाकर हॉस्पिटल ले गए.स्टेफी ग्राफ का फैन था गुंतेर हमलावर ने बताया था कि उस समय की सबसे प्रसिद्ध खिलाड़ी स्टेफी ग्राफ का फैन था. उसे लगता था कि सेलेस स्टेफी ग्राफ के लिए खतरा बन सकती है जिसके कारण दुखी था.  सेलेस ने मार्च 1991 में ऑस्ट्रेलियन ओपन जीता था, जिसके साथ ही 186 हफ्ते से वर्ल्ड रैंकिंग में नंबर एक चल रहीं ग्राफ की बादशाहत समाप्त हो गई थी. वह चाहता था कि स्टेफी ग्राफ हमेशा नंबर वन रहे. उन्होंने मोनिका से बदला लेने के लिए उनपर हमले करने का फैसला किया. इसके बाद मोनिका 27 महीनों पर टेनिस से दूर रही. 1995 में टेनिस कोर्ट पर वापसी की और कैनेडियन ओपन जीतकर अपनी मौजूदगी का एहसास कराया. सेलेस ने यूएस ओपन के फाइनल में जगह बनाई लेकिन स्टेफी ग्राफ के खिलाफ फाइनल मैच हार गईं. जनवरी 1996 में सेलेस ने करियर का चौथा ऑस्ट्रेलियन ओपन खिताब जीता. और यह सेलेस के करियर का आखिरी ग्रैंड स्लैम खिताब भी साबित हुआ. क्रिस गेल ने इस खिलाड़ी को बताया सांप, कहा- तुम कोरोना वायरस से भी बदतर हो
बड़ी खबर: अकमल के बैन का कुछ हिस्सा हो सकता है निलंबित, फिक्सिंग की बात छुपाने के लिए मिली थी सजा







[ad_2]

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here