पार्टियों ने कहा, लेकिन मुख्यमंत्री एवं स्वास्थ्य व वित्तमंत्री जानबूझकर निर्वाचन आयोग की आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन कर रहे हैं.

पार्टियों ने कहा, लेकिन मुख्यमंत्री एवं स्वास्थ्य व वित्तमंत्री जानबूझकर निर्वाचन आयोग की आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन कर रहे हैं.

Assam Assembly Elections 2021: मुख्य निर्वाचन आयुक्त को की गई शिकायत में 10 पार्टियों के गठबंधन ने कहा कि असम में आदर्श आचार संहिता अब भी लागू है और यह दो मई को चुनाव नतीजे आने तक लागू रहेगी एवं भाजपा नीत सरकार की हैसियत महज कार्यवाहक सरकार की है.

गुवाहाटी. असम में कांग्रेस नीत महागठबंधन ने रविवार को आरोप लगाया कि असम के मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल और स्वास्थ्य मंत्री हिमंता विश्व सरमा कोविड-19 प्रबंधन के नाम पर आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन कर रहे हैं. गठबंधन ने निर्वाचन आयोग (ईसी) से मांग की है कि वह विभिन्न जिलो में जाकर बैठक करने से उन्हें रोके.

मुख्य निर्वाचन आयुक्त को की गई शिकायत में 10 पार्टियों के गठबंधन ने कहा कि असम में आदर्श आचार संहिता अब भी लागू है और यह दो मई को चुनाव नतीजे आने तक लागू रहेगी एवं भाजपा नीत सरकार की हैसियत महज कार्यवाहक सरकार की है. पार्टियों ने कहा, ‘‘लेकिन मुख्यमंत्री एवं स्वास्थ्य व वित्तमंत्री जानबूझकर निर्वाचन आयोग की आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन कर रहे हैं. 23 अप्रैल 2021 से ही सर्वानंद सोनोवाल नगांव, मोरीगांव, माजुली आदि जिलों का दौरा कर रहे हैं और विभिन्न विभागों के अधिकारियों के साथ बैठक कर रहे हैं.’’

शिकायत में कहा गया कि इसी प्रकार सरमा और स्वास्थ्य राज्यमंत्री पीयूष हजारिका भी अलग-अलग जिलों में जाकर सरकारी अधिकारियों के साथ बैठक कर रहे हैं. पार्टियों ने कहा, ‘‘इसके जरिये वे न केवल आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन कर रहे हैं बल्कि कोविड नियमों का भी उल्लंघन कर रहे हैं.’’

स्ट्रांग रूम में ईवीएम में छेड़छाड़ एवं लूट की कथित खबरों का हवाला देते हुए पार्टियों ने दावा किया कि सोनोवाल और सरमा की लगातार हो रही यात्रा से जनता में शंका पैदा हो रही है.

ये भी पढ़ेंः- 11 से 15 मई के बीच चरम पर होगी कोरोना की दूसरी लहर, देश में होंगे 35 लाख एक्टिव केस, IIT वैज्ञानिकों का अनुमान

गठबंधन के सदस्यों ने कहा, ‘‘इसलिए हम मांग करते हैं कि असम के मुख्यमंत्री, स्वास्थ्य मंत्री और अन्य मंत्रियों को कहीं की भी आधिकारिक यात्रा करने से रोका जाए.’’

गौरतलब है कि इस गठबंधन में कांग्रेस के आलावा, एआईयूडीएफ, बीपीएफ, माकपा, भाकपा, भाकपा (माले), आंचलिक गण मोर्चा, राजद, आदिवासी नेशनल पार्टी और जिमोचयन (देओरी) पीपुल्स पार्टी शामिल हैं.





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here