टोक्यो ओलंपिक 23 जुलाई 2021 से खेले जाने हैं (@India_AllSports/Twitter)

टोक्यो ओलंपिक 23 जुलाई 2021 से खेले जाने हैं (@India_AllSports/Twitter)

टोक्यो ओलंपिक की शुरुआत 23 जुलाई से होनी है. गेम्स पिछले साल ही होने थे, लेकिन कोरोना के कारण इसे एक साल के लिए टाल दिया गया था.

नई दिल्ली. भारत के शीर्ष टेबल टेनिस खिलाड़ी शरत कमल ने कहा है कि जब देश कोविड-19 महामारी से जूझ रहा है तब टोक्यो ओलंपिक के लिए तैयारी करना आसान नहीं है लेकिन उन्होंने आश्वासन दिया कि खिलाड़ी पदक जीतने के लिए अपनी तरफ से कोई कसर नहीं छोड़ेंगे. कोविड-19 की दूसरी लहर के कारण भारत की स्वास्थ्य प्रणाली चरमरा गई है. पिछले कुछ दिनों से देश में प्रत्येक दिन तीन लाख से अधिक मामले आ रहे हैं और 2000 से अधिक लोगों की जान जा रही है. भारतीय खेल प्राधिकरण (साइ) के वर्चुअल संवाददाता सम्मेलन में शरत ने कहा, ‘‘यह ओलंपिक के लिए तैयारियों का तरीका नहीं है, लेकिन हमें अपने प्रदर्शन पर ध्यान देने और उसके लिए तैयारी करने का रास्ता ढूंढना होगा. हम खुद को बचाये रखकर अपना लक्ष्य हासिल करने का प्रयास कर रहे हैं. ’’ अपने चौथे ओलंपिक की तैयारियों में लगे शरत ने कहा कि वह पिछले साल की तुलना में मानसिक तौर पर बेहतर स्थिति में हैं. पिछले साल भारत कोविड-19 की पहली लहर से प्रभावित रहा था. उन्होंने कहा, ‘‘पिछले साल हम हर चीज से डरे हुए थे. हम केवल नकारात्मक चीजें सोच रहे थे. जब इतने अधिक लोग मर रहे थे तब मेरा खेल में मन नहीं लग रहा था. अब हमारे सामने एक लक्ष्य है और हमारा ध्यान उसे हासिल करने पर है. ’’ शरत ने कहा, ‘‘स्पष्ट योजना तैयार करना आसान नहीं है और इसके अलावा यात्रा करना भी एक मुद्दा है. इससे पहले मैं दो सप्ताह के लिए चीन या कोरिया जा सकते थे. यह बहुत आसान था. हम कुछ विदेशी खिलाड़ियों को आमंत्रित करने पर विचार कर रहे थे लेकिन अब यह वास्तव में मुश्किल है.’’









Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here