[ad_1]

डिजिटल डेस्क, मुंबई। दुनियाभर के लोग साल 2020 से लेकर अब तक कोरोना वायरस से जूझ रहे है। भारत में इसकी दूसरी लहर ने अर्थव्यवस्था की हालत खराब कर दी है। चारों तरफ हाहाकर है। लोग अपने परिवार और दोस्तों को सलामत रखने के लिए दर-दर भटक रहे है। रोजगार को तो कुछ पता नहीं। आम आदमी के अलावा बड़े-बड़े लोगों की आर्थिक हालत कमजोर हो चुकी है। इस लिस्ट में बॉलीवुड एक्टर शाहिद कपूर के सौतेले पिता राजेश खट्टर का नाम भी शामिल है। जी हां, राजेश खट्टर काफी मशहूर अभिनेता है, लेकिन मौजूदा समय में वो और उनका परिवार आर्थिक तंगी से परेशान है। महामारी के चलते टीवी और फिल्मों की शूटिंग पर रोक लगा दी गई है जिसके कारण मनोरंजन जगत के सितारों का भी जबरदस्त नुकसान हो रहा है। हाल ही में अभिनेत्री वंदना सजनानी ने खुलासा किया है कि, वो और उनके पति राजेश खट्टर आर्थिक तंगी का सामना कर रहे हैं क्योंकि उनकी सारी बचत अस्पताल में खर्च हो चुकी है।

क्या कहा वंदना सजनानी ने

दरअसल, पंकज कपूर शाहिद कपूर के बायोलॉजिकल पिता और नीलिमा अजीम मां है। लेकिन तलाक के बाद नीलिमा ने एक्टर राजेश खट्टर से शादी की और बाद में राजेश से भी तलाक हो गया। राजेश खट्टर ने भी बाद में वंदना सजनानी से शादी कर ली। हाल ही में वंदना ने क्विंट को दिए एक इंटरव्यू के दौरान कहा कि, ‘लास्ट टाइम जब मैं अस्पताल में थी, मुझे नहीं पता था बाहर क्या हो रहा है। पिछले साल मुझे पोस्टपार्टम डिप्रेशन हो गया था।’ ‘पिछले साल से सारी सेविंग्स अस्पताल में चली गई है। काम बिल्कुल नहीं हुआ और जितनी भी सेविंग्स थी वो भी अस्पतालों में और इस 2 साल के लॉकडाउन में चली गई।’ वंदना के अनुसार, उनका बेटा कुछ महीनों के लिए अस्पताल में भर्ती था और उन्होंने तबसे सिर्फ एक एड में काम किया है। वंदना कहती हैं कि, “यहां हम ढेर सारी बचत के बारे में बात कर रहे हैं। एक्टर के तौर पर ज्यादातर सेविंग्स हॉस्पिटलाइजेशन में कम हो गई। काम बिल्कुल नहीं हुआ और जितनी सेविंग्स थी, लगभग वो भी हॉस्पिटलाइजेशन और इस दो साल के लॉकडाउन में चली गई।” इस बार उन्हें बहुत धक्का लगा है। वहीं वंदना के पति और एक्टर राजेश ने कहा कि, इस बीच उनके पिता का निधन भी हो गया था और उन्हें अस्पताल से ही पिता का अंतिम संस्कार करने जाना पड़ा। दरअसल, राजेश खट्टर और उनके पिता दोनों ही कोविड पॉजिटिव हो गए थे। राजेश ने तो इस वायरस को मात दे दी थी, लेकिन उनते पिता इस वायरस से हार गए थे।

इससे पहले राजेश खट्टर ने कहा था कि उनके परिवार के सदस्यों के लिए अस्पताल में बेड ले पाना उनके लिए किसी बुरे सपने जैसा था। वहीं अब उनकी पत्नी वंदना ने बताया है कि उनके पास काम नहीं था और अस्पताल जाने की वजह से उन्हें अपनी बचत का इस्तेमाल करना पड़ा। बता दें कि, राजेश खट्टर अपने पिता का अंतिम संस्कार भी नहीं कर पाए थे। उनके शरीर को सीधे अस्पताल से ही श्मशान घाट ले जाकर अंतिम संस्कार करना पड़ा था। इस बात को याद करते हुए वंदना कहती हैं कि, “इस बार बहुत धक्का लगा है।” 

[ad_2]

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here