महाराष्ट्र। कोरोना वायरस के नए मामलों में फिर से बढ़ोतरी देखने को मिल रही है। डॉक्टरों और विशेषज्ञों का मानना है कि राज्य में कोरोना वायरस की तीसरी लहर शुरुआती चरण में है। इस बीच, महाराष्ट्र सरकार ने आशंका जताई है कि जनवरी के तीसरी सप्ताह तक राज्य में कोरोना वायरस के 80 लाख मामले आ सकते हैं और 80 हजार लोगों की मौत हो सकती है।

टाइम्स नाऊ की रिपोर्ट के मुातबिक, राज्य के अपर मुख्य सचिव (स्वास्थ्य) डॉ. प्रदीप व्यास ने सभी जिला कलेक्टरों और स्वास्थ्य अधिकारियों को भेजे पत्र में कहा है कि तीसरी लहर में कोविड-19 संक्रमणों की संख्या बहुत बड़ी होने वाली है। डॉ व्यास के पत्र में कहा गया है ‘अगर तीसरी लहर में 80 लाख कोविड मामले होते हैं, तो इसमें 1 फीसदी मौत का अनुमान मान लिया जाए तो 80 हजार मौतें देखने को मिल सकती है।’ 
डॉ व्यास ने अधिकारियों से अपील की कि वो ओमिक्रॉन वैरिएंट को हल्का और कम घातक मानकर न चले। यह उन लोगों के लिए उतना ही घातक है जिनका टीकाकरण नहीं हुआ है और उन्हें कॉमरेडिटीज है। इसलिए टीकाकरण में तेजी लाएं और लोगों के जीवन को बचाएं। व्यास की ओर से पत्र को राज्य के सभी संभागीय आयुक्तों, जिला कलेक्टरों, नगर आयुक्तों और जिला परिषदों के सीईओ को भेजा गया है। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here