तहसील लट्टी उपमंडल द्रुडू के कटियास गांव में रहने वाली देवी ने ऊधमपुर जिला प्रशासन अपने घर से थोड़ी दूर आयोजित शिविर में पहुंचकर वैक्सीन की खुराक ली.

तहसील लट्टी उपमंडल द्रुडू के कटियास गांव में रहने वाली देवी ने ऊधमपुर जिला प्रशासन अपने घर से थोड़ी दूर आयोजित शिविर में पहुंचकर वैक्सीन की खुराक ली.

Jammu Kashmir Corona Vaccination Drive: उत्तरी सेना के कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल वाईके जोशी ने जम्मू-कश्मीर के उधमपुर की तहसील द्रुडू के कटियास गांव की 120 वर्षीय ढोली देवी से मुलाकात की. इस दौरान जनरल ने फूल देकर देवी का अभिवादन किया.

श्रीनगर. कोरोना वायरस से बचाव के लिए वैक्सीनेशन (Corona Vaccination) बहुत आवश्यक है. हालांकि कई तरह के मिथक होने के कारण लोग वैक्सीन नहीं लगवा रहे हैं. ऐसे में जम्मू कश्मीर (Jammu Kashmir) के तहसील लट्टी उपमंडल द्रुडू के कटियास गांव में रहने वाली 120 साल की महिला ने वैक्सीन (120-year-old Dholi Devi Take Vaccine) लेकर पूरे गांव को एक प्रेरणा दी है. महिला का नाम ढोली देवी है और उन्होंने 17 मई को ऊधमपुर जिला प्रशासन में आयोजित शिविर में पहुंचकर वैक्सीन की खुराक ली थी. भारतीय सेना ने देवी को सम्मानित किया है. उत्तरी सेना के कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल वाईके जोशी ने जम्मू-कश्मीर के उधमपुर की तहसील द्रुडू के कटियास गांव की 120 वर्षीय ढोली देवी से मुलाकात की. इस दौरान जनरल ने फूल देकर देवी का अभिवादन किया. देवी के साथ उनके पूरे परिवार ने भी कोरोना वैक्सीन की पहली खुराक ली, ताकि गांव के लोगों के इस महामारी से बचाव के लिए जागरूक किया जा सके. सभी लोगों से की वैक्सीनेशन करवाने की अपील टीकाकरण के बारे में विचार साझा करते हुए, देवी के परिवार के सदस्यों में से एक ने कहा, “टीका लगने के बाद हम ज्यादा आत्मविश्वास और संरक्षित महसूस कर रहे हैं क्योंकि ये वैक्सीन कोविड संक्रमण के खिलाफ सबसे अच्छी ढाल है.” उन्होंने आगे कहा कि वे परिवार के अपने सबसे बड़े सदस्य को कोरोना वायरस के खिलाफ टीका लगवाने से बहुत खुश हैं. परिवार के सदस्यों ने जम्मू-कश्मीर के सुदूर इलाकों में टीकाकरण स्पॉट लगाने के लिए प्रशासन को भी धन्यवाद दिया. इसके अलावा देवी के परिवारवालों ने जिले के सभी लोगों से आगे आकर कोविड का टीका लगवाने की अपील की.

बुजुर्ग पहले भी दे चुके हैं इस तरह की सीख बता दें कि इससे पहले एक मामला सामने आया था, जिसमें एक 103 वर्षीय स्वतंत्रता सेनानी और प्रसिद्ध गांधीवादी, हरोहल्ली श्रीनिवासैया दोरेस्वामी ने केवल पांच दिनों में वायरस को हरा दिया था. दोरेस्वामी को सांस लेने में तकलीफ के बाद अस्पताल में भर्ती कराया गया था और उनकी COVID रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी. हालांकि, वह एक हफ्ते से भी कम समय ही कोरोना को हरा दिया और घर वापस आ गईं.





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here