Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

लखनऊ5 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक
यूपी में कोरोना का संक्रमण बेक - Dainik Bhaskar

यूपी में कोरोना का संक्रमण बेक

  • प्रदेश में अब तक मरने वालों की संख्या 9830 हो गई, 24 घंटें में 2,36,492 सैम्पलों की जांच हुई

कोरोनावायरस की दूसरी वेब उत्तर प्रदेश को दिनों दिन चपेट में लेता जा रहा है। बीते 24 घंटे के अंदर रिकॉर्ड 30,596 नए केस आए और 129 संक्रमित की मौत हुई । सबसे ज्यादा हालात प्रदेश की राजधानी लखनऊ के खराब है। यहां बीते 24 घंटे के अंदर लखनऊ में 5551 केस आए तो 22 की मौत हुई हैं।

मौजूदा समय में लखनऊ में 47, 730 एक्टिव हैं। हालात इतने खराब हो गए हैं बेड न ही वेंटीलेटर, ऑक्सीजन सिलेंडर के लिए सैकड़ों मरीज में परिजन दर-दर भटक रहे हैं। प्रदेश में मौजूदा समय पमें 1,91,457 केस एक्टिव हैं। प्रदेश में मरने वालों की संख्या 9830 हो गई है। 24 घंटें में 2,36,492 सैम्पलों की जांच की गई हैं।

बेड न मिलने से लोग, हैरान परेशान, सोशल मीडिया पर लगा रहे मदद की गुहार
केंद्रीय मंत्री वीके सिंह के सोशल मीडिया पर बेड मांगे जाने का पोस्ट वायरल हो रहा है। वहीं दूसरी तरफ प्रदेश के राजधानी समेत 12 शहरों में कोरोनावायरस से लोग संक्रमित होते जा रहे हैं। हालात इतने खराब हो गए हैं कि राजधानी लखनऊ में लोगों को बेड, वेंटिलेटर और ऑक्सीजन सिलेंडर, के लिए दर-दर भटकना पड़ रहा है।

जारी किए गए कंट्रोल रूम नंबर पर फोन मिला कर थक जाने के बाद वह सोशल मीडिया पर मदद की गुहार लगा रहे हैं। राजधानी लखनऊ में बनाए गए कोविड कंट्रोल रूम में सुबह से करीब 2000 कॉल आई हैं। हालत इतने खराब है कि, सीएम हेल्पलाइन से लेकर अन्य सोशल मीडिया पर मांगी जा रही है।

इन शहरों में हालात बेहद खराब

लखनऊ में 24 घंटे में 5,551 आए तो 22 लोगों की मौत हो गई जबकि वाराणसी में 2011 नए केस आए 10 लोगों का मौत हो गई। कानपुर नगर में 1839 नए मामले आए तो 8 लोगों की मौत हो गई। प्रयागराज में 1711 नए केस तो 11 लोगों की मौत हो गई हैं। झांसी में 954 नए कोरोना केस आए और 2 लोगों की मौत हो गई। आगरा में 440 नए कोरोना केस आए तो 3 मरीजों की मौत हो गई। नोएडा में 700 नए कोरोना केस आए और 3 मरीजों की मौत हो गई हैं।

तीन मंत्रियों को बेहतर व्यवस्था के लिए दी गई जिम्मेदारी

सीएम योगी ने समीक्षा बैठक के दौरान शनिवार को प्रदेश में औषधियों और इंजेक्शन की कमी की समीक्षा और वितरण की ज़िम्मेदारी स्वास्थ्य मंत्री जयप्रताप सिंह और अतुल गर्ग (राज्यमंत्री, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य) को सौंपी है तो , ऑक्सीजन सिलेंडर के साथ ही कोविड से प्रभावित 12 ज़िलों में आईसीयू और बेड्स का इंतज़ाम मंत्री सुरेश खन्ना को ज़िम्मेदारी सौंपी है।

खबरें और भी हैं…



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here