ग्रीस के युवा खिलाड़ी स्टेफानोस सिटसिपास ने ग्रैंडस्लैम में पहली बार फाइनल में जगह बनाई थी (फोटो-AP)

ग्रीस के युवा खिलाड़ी स्टेफानोस सिटसिपास ने ग्रैंडस्लैम में पहली बार फाइनल में जगह बनाई थी (फोटो-AP)

नोवाक जोकोविच के हाथों अपने करियर का पहला ग्रैंडस्‍लैम फाइनल हारने के बाद स्‍टेफानोस सितसिपास ने सोशल मीडिया पर बताया कि कोर्ट पर उतरने से 5 मिनट पहले उन्‍होंने अपने सबसे करीबी शख्‍स को खो दिया था

 पेरिस. दुनिया के नंबर एक टेनिस खिलाड़ी नोवाक जोकोविच (Novak Djokovic) ने यूनान के स्‍टेफानोस सितसिपास (stefanos tsitsipas) को हराकर दूसरी बार फ्रेंच ओपन का खिताब अपने नाम कर लिया. जोकोविच ने सिटसिपास को पांच सेट तक चले मुकाबले में 6-7, 2-6, 6-3, 6-2, 6-4 से हराया. शुरुआती दो सेट सितसिपास ने अपने नाम कर लिया था और एक बार तो उलटफेर होता नजर आ रहा था, मगर अनुभवी खिलाड़ी जोकोविच ने जोरदार वापसी करते हुए अपने करियर का 19वां ग्रैंडस्‍लैम खिताब जीत लिया.

सितसिपास का यह पहला ग्रैंडस्‍लैम फाइनल था और इस फाइनल के लिए कोर्ट पर उतरने से ठीक 5 मिनट पहले ही उन्‍होंने अपने परिवार के करीबी सदस्‍य को हमेशा हमेशा के लिए खो दिया.

सितसिपास ने सोशल मीडिया पर पोस्‍ट करके बताया कि जोकोविच के खिलाफ फ्रेंच ओपन फाइनल खेलने से ठीक पहले उनकी दादी की मृत्यु हो गई थी. उन्‍होंने कहा कि पहले ग्रैंडस्लैम फाइनल मैच के लिए कोर्ट में जाने से पांच मिनट पहले दादी जिंदगी से अपनी जंग हार गई.यह भी पढ़ें : 

EURO 2020 Round Up: स्‍पेन और स्‍वीडन के बीच गोलरहित ड्रॉ तो स्‍लोवाकिया ने किया विजयी आगाज

फुटबॉल: अंतिम मैच में भारत की भिड़ंत अफगानिस्तान से, सुनील छेत्री बना सकते हैं खास रिकॉर्ड

उन्होंने अपने पिता का ध्यान रखने के लिए दादी को धन्यवाद दिया और उन्हें ‘ऐसी बुद्धिमान महिला करार दिया जिसका जीवन में विश्वास और दूसरों की मदद करने के मामले में किसी से तुलना नहीं की जा सकती है’. उन्होंने कहा कि दुनिया को ऐसे और लोगों की जरूरत है, क्योंकि उनके जैसे लोग आपको जिंदादिल बनाते हैं. आपको सपने देखना सिखाते हैं.









Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here